नगर में जमीनी समस्याओं का निस्तारण करायें सपाई : तिलक यादव

प्रथम मासिक बैठक में नगर कार्यकारिणी के गठन पर हुआ विचार
ललितपुर। समाजवादी पार्टी कार्यालय पर नगर की प्रथम मासिक बैठक सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. की अध्यक्षता में संपन्न हुयी। बैठक में नगर की कार्यकारिणी पर विचार-विमर्श किया गया। तो वहीं शहर में व्याप्त पेयजलापूर्ति, विद्युत, सड़क और शिक्षा को लेकर मंथन किया गया। बैठक का संचालन जिला महासचिव कृष्ण स्वरूप निरंजन ने किया।
 सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 को लेकर अनलॉक प्रक्रिया धीरे-धीरे आगे बढ़ायी जा रही है। इसके तहत आगामी 15 अक्टूबर से मंदिरों को भी खोलने की बात की जा रही है। उन्होंने कहा कि बच्चे मंदिर तो जा रहे हैं, लेकिन शिक्षा के मंदिर कब से खुलेंगे। ऑनलाइन शिक्षा पर सवाल उठाते हुये उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के अभिभावकों के पास एनड्राइड फोन मुहैया नहीं हैं, वह अब तक ऑनलाइन शिक्षा से वंचित हैं। जबकि निजी विद्यालयों में अभिभावकों से जबरन फीस जमा करा ली गयी है और करायी भी जा रही है। उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार शिक्षा के मंदिर खोलने की ओर भी ध्यान दें। इसके अलावा उन्होंने कहा कि शहर में विद्युत आपूर्ति, पेयजलापूर्ति अक्सर बाधित रहती है। तो वहीं शहर में सड़कों की हालत किसी से छिपी नहीं है। धूल के उड़ते गुबार लोगों को परेशान किये हुये हैं तो वहीं गडढों में तब्दील हुयी सड़क पर लोगों के वाहन गिर रहे हैं, जिससे वह चोटिल भी हो रहे हैं। उन्होंने स्थानीय प्रशासन व शासन को इसके लिए जिम्मेवार ठहराते हुये कार्यवाही की मांग उठायी है। बैठक में जल्द ही नगर की कार्यकारिणी गठन को लेकर भी विचार किया गया। इस मौके पर पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा, ज्योति सिंह लोधी, अजीज कुरैशी, महेन्द्र अग्निहोत्री, जितेन्द्र सिंह, स्वामी प्रसाद, प्रताप सिंह, प्रदीप जैन, राजेश झोजिया, प्रीतमलाल, विजय सिंह, सोबरन सिंह, अकबर आलम, राजकुमार, संजय कुमार पार्षद, शाकिर अली, नैपाल सिंह, सुरेन्द्र पाल सिंह, पुष्पेन्द्र यादव, गौरव विश्वकर्मा, कंजी पठान, रवि खटीक, शिवम तिवारी, परवेज पठान, शहबाज खान गोलू, रामपाल, रविकान्त श्रीवास, धनीराम, करीम पप्पू राईन, महेन्द्र कुमार, पवन नामदेव, शिवलाल, शत्रुघन यादव, अमित कुमार, राजू, रमेश सिंह, हनुमत कुशवाहा, गिरधारी यादव, रहीश सिंह, श्रीराम कुशवाहा, नरेन्द्र सिंह राजपूत, करन सिंह, विजय जैन, लक्ष्मी नारायण विश्वकर्मा, पवन कुमार तिवारी, महेन्द्र कुमार, संतोष साहू खजुरिया, गंगाराम ग्वाला, रामप्रताप सिंह, नवल घावरी, पुष्पेन्द्र, मु.रिजवान हाजी, बाकर अली, मु.अनवर, वरूण कालरा, दिवाकर दुबे, देशराज आदि मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या