सिंधी विषय से उत्तीर्ण छात्रों हेतु प्रदान की जाने वाली को प्रोत्साहन धनराशि दुगना की जायेगी

लखनऊः- 27 अक्टूबर 2020
उत्तर प्रदेश सिंधी अकादमी द्वारा आज यहां इन्दिरा भवन में अकादमी की साधारण सभा की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता अकादमी के उपाध्यक्ष श्री नानक चंद लखमानी द्वारा की गई। बैठक में सर्वसम्मति से वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए अकादमी के प्रस्तावित बजट 387.55 लाख रुपए का अनुमोदन प्रदान किया गया।
 बैठक में विभिन्न सिंधी पुस्तकों  को आर्थिक सहयोग दिए जाने का भी अनुमोदन दिया गया। जिसमें लेखक श्री रामचंद्र छाबड़िया द्वारा लिखित असांजी लिपि सिंधी देवनागरी इतिहास ऐं जाण, श्रीमती शांता वाधवाणी द्वारा लिखित सिंधी कविताऊँ, श्री घनश्यामदास जेसवानी द्वारा लिखित विरहाणे जूं यादगीरियूं सम्मिलित हैं।
अकादमी में सिंधी विषय से उत्तीर्ण छात्रों हेतु प्रदान की जाने वाली प्रोत्साहन धनराशि को दुगना किए जाने की भी संस्तुति प्रदान की गई। जिसमें कक्षा 3 से 5 तक के उत्तीर्ण छात्रों को 1200 रूपये की धनराशि, कक्षा 6 से 8 तक के उत्तीर्ण छात्रों को 2000 रूपये की धनराशि, कक्षा 9 से 10 तक के उत्तीर्ण छात्रों को 3500 रूपये की धनराशि, कक्षा 11 से 12 तक के उत्तीर्ण छात्रों को 5000 रूपये की धनराशि दी जायेगी। इसके अतिरिक्त स्नातक उत्तीर्ण छात्रों को 6000 रूपये की धनराशि तथा परास्नातक के उत्तीर्ण छात्रों को 7000 रूपये की धनराशि प्रोत्साहनस्वरूप दी जायेगी।
इसके अतिरिक्त बैठक में सर्वसम्मति से अकादमी द्वारा कानपुर में प्रस्तावित ऑनलाइन संगोष्ठी, आगामी 30 अक्टूबर 2020 को लखनऊ में प्रस्तावित ऑनलाइन सूफी कलाम, आगामी 01 नवम्बर को कानपुर में प्रस्तावित संगोष्ठी को कराए जाने का अनुमोदन किया गया।  इसके साथ ही अकादमी द्वारा ऑनलाइन छात्र प्रतियोगिता, कवि सम्मेलन, संगोष्ठी, सिंधी सूफी कलाम, सूफी गीत, सिंधी सूफी भजन आदि कार्यक्रम कराये जाने का अनुमोदन प्रदान किया गया।
बैठक में भाषा विभाग के विशेष सचिव श्री कल्लू प्रसाद द्विवेदी, वित्त विभाग के संयुक्त निदेशक श्री मदन राजा मौर्य, माध्यमिक शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव श्री राम प्रताप विमल, हिंदी संस्थान के प्रशासनिक अधिकारी भैया लाल मौर्य तथा उत्तर प्रदेश सिंधी अकादमी के सदस्य श्री नरेश कुमार, श्री विजय कुमार पुर्सवानी तथा श्री हेमंत भोजवानी भी उपस्थित थे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या