वाराणसी जिले के वरुणा नदी में प्रदूषण और प्रशासन की लापरवाही पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को जारी किया नोटिस |


वाराणसी, 19 अक्टूबर, 2020 उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में वरुणा नदी के किनारे दीनदयालपुर क्षेत्र में बुनकर बाहुल्य क्षेत्र है | ये गरीब मुस्लिम परिवार वरुणा नही के प्रदूषण के प्रकोप से टी0बी0, दमा, चर्म रोग जैसी गम्भीर बिमारियों का शिकार हो जा रहे है, आखों में जलन, पानी बहना इस क्षेत्र में जनवरी 2013 में एक हफ्ते के अन्दर एक ही परिवार के दो सदस्य शाहिदा (उम्र-22 वर्ष), वसीम (उम्र-11 वर्ष) की मौत हो गयी थी | बुनकर मुख्तार अहमद (उम्र-38 वर्ष) के बिमारी से आखों की रोशनी मंद पड रही है | चिकित्सा विभाग इस मौतों के बाद भी इन परिवारो के लिये सचेत नही हुआ हैं |


      जिसपर मानवाधिकार जननिगरानी समिति के द्वारा माननीय राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में इसकी शिकायत की गयी थी जिसके बाद  मानानीय आयोग ने संज्ञान लेते हुए इस पर जिलाधिकारी वाराणसी और नगर आयुक्त वाराणसी को नोटिस व सम्मन जारी किया था | जिसके बाद भी कोइ संतोषजनक जवाब इनकी तरफ से माननीय योग में नहीं दिया गया जिसके पश्चात माननीय आयोग ने मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश, सचिव पर्यावरण उत्तर प्रदेश और नगर आयुक्त वाराणसी को पुनः नोटिस भेजकर इसपर त्वरित कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया है  |



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या