बूथ का मतदाता होना चाहिए पोलिंग एजेंट : डीएम जौनपुर

डीएम, एसपी ने की पुलिसकर्मियों एवं सीआरपीएफ के जवानों के साथ बैठक



जौनपुर। डीएम जौनपुर दिनेश कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक राजकरन नैयर ने पुलिस लाइन में चुनाव ड्यूटी में लगे पुलिसकर्मियों एवं सीआरपीएफ के जवानों के साथ बैठक की।


डीएम जौनपुर ने कहा कि बूथ पर जितनी मजबूती से पुलिस बल खड़े रहेंगे उतना ही सही चुनाव होगा। पोलिंग एजेंट बनाने की जानकारी देते हुए कहा कि पोलिंग एजेंट बूथ का मतदाता होना चाहिए। मतदाता सूची में उसका नाम होना चाहिए। पोलिंग बूथ के पास मतदाता सूची रह सकती है  लेकिन वह सूची बूथ के बाहर नहीं ले जा सकता है। डीएम ने निर्देश दिया कि पास धारक पत्रकार बूथ तक जा सकते हैं लेकिन मतदान कक्ष के अन्दर न ही प्रवेश करेंगे और न ही वीडियों एवं फोटो लेंगे। मतदाताओं को मतदान के समय वोटर स्लिप के साथ एक पहचान पत्र लाना आवश्यक होगा। उन्होंने कहा कि मॉक पोल छह बजे पोलिंग एजेंट के सामने शुरू कर देना है, अगर छह बजे तक पोलिंग एजेंट नहीं आता है तो 15 मिनट तक पोलिंग एजेंट का इंतजार करेंगे। सवा छह बजे तक भी पोलिंग एजेंट नहीं आता है तो सवा छह बजे मॉक पोल प्रारंभ कर दिया जाएगा। मॉक पोल की वीडियो रिकॉर्डिंग करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 को देखते हुए आवश्यक व्यवस्था कर ली गई है।


उन्होंने ने निर्देश दिया कि रवाना होने से पहले आवश्यक सामान रखना सुनिश्चित कर लें


एसपी ने चुनाव में लगे पुलिस कर्मियों को निर्देश दिया कि चुनाव निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराए इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नही होगी। 


उन्होने कहा कि चुनाव में बाधा डालने वालों के खिलाफ सख्त करवाई की जायेगी। एसपी ने कहा कि सभी टीमें सतर्क रहकर अपना कार्य निष्पक्ष एवं निष्ठापूर्वक करें।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

होमियोपैथी कोरोना के नए वैरीअंट के खिलाफ महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है-डॉ एम डी सिंह