चलचित्र निगम का स्टूडियो चालू किया जाए


प्रयागराज। प्रयागराज की विरासत के लिए हम कृत संकल्प है। यहां बंद पड़ा चलचित्र निगम का स्टूडियो चालू किया जाए इसके लिए पूरा प्रयास होगा। उत्तर प्रदेश में फिल्में बने इसके लिए सरकार पूरा प्रयास कर रही है।
फिल्म एवं लोक कला परिषद का एक प्रतिनिधिमंडल आज उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता व मंत्री सिद्धार्थ नाथ से भेंट कर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा जिसमें प्रमुख रूप से प्रयागराज में शिक्षा विभाग के बंद पड़े स्टूडियो को फिल्म सिटी से सम्बद्ध   कर चालू करने की मांग की गई। साथ ही प्रयागराज में फिल्मों के लिए माहौल तैयार करने तथा फिल्म निर्माण में आ रही  बाधा को दूर करने की भी मांग की गई। मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि वह उनकी इन मांगों से नीतिगत रूप से सहमत हैं तथा इसे मुख्यमंत्री को अवगत कराएंगे। उन्होंने कहा कि फिल्म निर्माण में प्रयागराज में यदि कोई बाधा पहुंचाता है या अनुमति में कोई दिक्कत आती है तो उसे दूर किया जायेगा, और हर तरह से सकारात्मक महोदय तैयार होगा। प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व फिल्म एवं लोक कला परिषद के संयोजक वीरेंद्र पाठक ने किया ।



साथ ही प्रतिनिधिमंडल में  राजीव मेहरा पल्लवी चंदेल अमित मिश्रा जतिन श्लोक रंजन प्रमुख रूप से शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल ने मंत्री महोदय को अवगत कराया कि प्रयागराज से लगभग 10,000 कलाकार मुंबई में काम कर रहे हैं। यह कलाकार अपने गृह जनपद प्रयागराज में फिल्म बनाकर जुड़े रहना चाहते हैं। ऐसे लोगों को मदद करने के उद्देश्य प्रयागराज की विभिन्न संस्थाओं को मिलाकर एक परिषद बनाया गया। जिसकी गत दिनों हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया कि फिल्म और लोक कलाओं के प्रोत्साहन के लिए यह परिषद काम करेगा इसी के तहत आज मंत्री महोदय को फिल्म एवं लोक कला परिषद की मांग से अवगत कराया गया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?