एमएलसी स्नातक क्षेत्र के प्रत्याशी ने किया सघन जनसम्पर्क






स्नातक मतदाताओं से एक लिखकर मत देने का आह्वान


ललितपुर। इलाहाबाद झांसी खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव (निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी शिक्षक सभा उ.प्र.) ने ललितपुर-झांसी क्षेत्र का दौरा कर स्नातक मतदाताओं से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने स्नातक मतदाताओं से आह्वान किया कि शिक्षा के क्षेत्र में नवाचार कार्य करने का अनुभव समाजवादी पार्टी में निहित है। उन्होंने कहा कि युवाओं को तरजीह देने वाली समाजवादी पार्टी से उन्हें एमएलसी स्नातक क्षेत्र निर्वाचन में प्रत्याशी बनाया गया है। स्नातक मतदाता युवाओं से उन्होंने नाम के सामने एक लिखकर भारी मतों से विजयी बनाने का आह्वान किया। 

समाजवादी लोहिया वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष डा.रामकरन निर्मल ने कहा कि शिक्षकों, स्नातक व उच्च शिक्षा के बेरोजगार युवाओं, वित्तविहीन विद्यालय, शिक्षामित्रों, राज्य कर्मचारियों, अधिवक्ता, अनुदेशक, उर्दू शिक्षक, शिक्षा प्रेरक, कम्प्यूटर शिक्षक, आंगनबाड़ी सहित सभी वर्गों के हितार्थ नीति व नियम प्रभावी तरीके से लागू कराते हुये जनकल्याण की भावना से कार्य किया जायेगा। इसलिए उन्होंने समाजवादी पार्टी से प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव को इलाहाबाद झांसी खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से चुनने का आह्वान स्नातक मतदाताओं से किया। सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि ललितपुर में स्नातक मतदाताओं से सघन जनसम्पर्क किया जा रहा है। उन्होंने समाजवादी पार्टी की स्पष्टवादी विचारधारा से स्नातक मतदाताओं का रूझान समाजवादी पार्टी प्रत्याशी की ओर तेजी से बढ़ा है। उन्होंने स्नातक मतदाताओं से भविष्य को ध्यान में रखते हुये समाजवादी पार्टी से प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव के नाम के आगे एक लिखकर भारी मतों से विजयी बनाने का आह्वान किया। इस दौरान शिक्षक सभा के जिलाध्यक्ष विजय यादव ने कहा कि स्नातक क्षेत्र के युवा मतदाताओं में खासा जोश देखा जा रहा है, जनसम्पर्क के दौरान स्नातक मतदाता समाजवादी पार्टी के कार्यों से प्रभावित है। इस दौरान पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा, पूर्व विधायक फेरनलाल अहिरवार, ब्लाक प्रमुख कैलाश यादव, फूलसिंह नन्ना, पूर्व जिलाध्यक्ष ज्योति सिंह लोधी, महेन्द्र प्रताप सिंह बुन्देला, राजपाल सिंह फौजी, डा.महेश झां, प्रवीण यादव, कृष्ण स्वरूप निरंजन, रामजीवन, शेर सिंह, धनीराम रजक, अनिल अडज़रिया, मानसिंह एड., स्वामी प्रसाद एड., महेन्द्र पाल सिंह, प्रभूदयाल, तिलक बनौली, दशरथ लम्बरदार, डा.जगमोहन, अजीज कुरैशी एड., गिरधारी, आशीष अहारिया, नैपाल सिंह, इंजी.हृदेश यादव, चरन सिंह, डा.रवीन्द्र नाथ, लक्ष्मीनारायण विश्वकर्मा, सुरेन्द्र पाल सिंह, रामदास श्रोतीय, नरेन्द्र राजपूत, वृन्दावन कुशवाहा, खेमचंद्र चौरसिया, अमर सिंह, नीलेश झां, बिल्ले तिवारी, दयाराम विश्वकर्मा, नंदराम, सौरभ जैन, ओमकार वर्मा, कैलाश कुशवाहा, प्रकाश पाल, पुष्पेन्द्र सिंह, राजेश गंधर्व, सत्येन्द्र सिंह, जयपाल सिंह समेत अनेकों पदाधिकारी मौजूद रहे।


 

 




 

Attachments area



 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि