गैस सिलेंडर से दुर्घटना पर मिलता है 50 लाख तक मुआवजा जानिये क्या है प्रावधान और कैसे मिलता लाभ

अक्सर आपने कई बार सुना होगा कि किसी के घर पर गैस सिलेंडर फट गया और कई लोगों की मौत हो गई लेकिन कंपनी गैस सिलेंडर फटने पर ₹5000000 तक का मुआवजा देती है लेकिन अधिकतर लोगों को पता नहीं है कि इसे कैसे क्लेम करते हैं।


आज इस आर्टिकल में आपको यही बताने वाले हैं यदि किसी भी कंपनी का गैस सिलेंडर फट जाए तो उसकी सारी जिम्मेदारी डीलर या फिर कंपनी की होती है हाल ही में एक मामला देखने को मिला जब एक घर में 1 सिलेंडर ब्लास्ट हो गए जिसमें एक महिला की मौत हो गई एक महिला बुरी तरह से जख्मी हो गई तब कोर्ट ने मृत महिला के परिवार वालों को 10 लाख 46 हजार का मुआवजा दिलाया कि झुलसी हुई महिला को एक लाख का मुआवजा मिला।


लेकिन सिलेंडर फटने पर 5000000 रुपए तक का मुआवजा मिल सकता है मायएलपीजी.इन (http://mylpg.in) के मुताबिक जैसे ही कोई व्यक्ति एलपीजी कनेक्शन लेता है तो उसे मिले सिलेंडर से यदि उसके घर में कोई दुर्घटना होती है तो वह व्यक्ति 50 लाख रुपये तक के बीमा का हकदार हो जाता है।


सिलेंडर से हुई दुर्घटना में अधिकतम ₹5000000 तक का मुआवजा और प्रत्येक व्यक्ति को अधिकतम ₹1000000 तक का मुआवजा मिल सकता है एलपीजी सिलेंडर के बीमा कवर पाने के लिए ग्राहक को दुर्घटना होने की तुरंत सूचना नजदीकी पुलिस स्टेशन और अपने एलपीजी वितरक को देनी होती है।


एफआईआर की कॉपी, घायलों के इलाज के पर्चे व मेडिकल बिल तथा मौत होने पर पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट, मृत्यु प्रमाणपत्र संभाल कर रखें।


इस प्रकार आप किसी भी व्यक्ति को यह बता सकते हैं कि सिलेंडर से हुई दुर्घटना में उसे 5000000 तक का मुआवजा मिल सकता है।


जागरूकता के लिए शेयर अवश्य करें


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि