जनपद पीलीभीत के 07 क्षेत्रों के पाइप पेयजल आपूर्ति योजना के लिए 394.75 लाख रू0 की धनराशि स्वीकृत यह धनराशि केन्द्रांश की द्वितीय क़िश्त के रूप में जारी

लखनऊः 03 नवम्बर, 2020
 
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जनपद पीलीभीत के विभिन्न विकास खण्डों में स्वीकृत पाइप पेयजल आपूर्ति परियोजनाओं के लिए केन्द्रांश की द्वितीय किश्त 394.8675 लाख रूप की धनराशि अवमुक्त करने की स्वीकृत प्रदान कर दी है।
अल्प संख्यक कल्याण एवं वक्फ विकास विभाग द्वारा इस संबंध में जारी आदेश मंे कहा गया है कि जनपद पीलीभीत के विकास खण्ड अमरिया और पूरनपुर के सात क्षेत्रों में पाइप पेयजल आपूर्ति परियोजना का काम कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा किया जा रहा है।
जनपद पीलीभीत के विकासखण्ड अमरिया के अमखेड़ा, डांग, खमरिआ, दलेलगंज तथा कंचूटांडा में पाइप पेयजल आपूर्ति योजना क्रियांवित की जा रही है। विकासखण्ड पूरनपुर के अंतर्गत मथनाजब्ती, सिकरहना तथा दुर्जनपुर में पाइप पेयजल आपूर्ति योजना के तहत पाइप लाईन बिछाने का कार्य प्रस्तावित है। केन्द्रांश की द्वितीय किश्त के रूप में अमखेड़ा हेतु 41.2675 लाख रू0, डांग हेतु 41.5425 लाख रू0, खमरिया दलेलगंज हेतु 52.15 लाख रू0 तथा कंचूटांडा हेतु 62.5025 लाख रू0 को अवमुक्त करने की स्वीकृत प्रदान की गई है।
इसी प्रकार विकास खण्ड पूरनपूर के अंतर्गत मथना जब्ती हेतु 82.895 लाख रू0, सिकरहना हेतु 48.55 लाख रू0 तथा दुर्जनपुर में पाइप पेजयजल आपूर्ति योजना हेतु 65.96 लाख रू0 की धनराशि केन्द्रांश की द्वितीय किश्त मंजूर की गयी है।
पीलीभीत जनपद में प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा पाइप पेयजल आपूर्ति योजना का क्रियांवयन कराया जा रहा है।
अवमुक्त धनराशि निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश जलनिगम को हस्तांतरित की जायेगी। कार्य को अनुमोदित लागत से निर्धारित अवधि में गुणवत्ता, मानक के अनुसार पूर्ण किया जाएगा। कराए गए कार्य की गुणवत्ता की पुष्टि जिलाधिकारी द्वारा की जायेगी। इसके साथ ही निहित व्यवस्था के अनुसार थर्ड पार्टी से निरीक्षण भी सुनिश्चित कराया जाएगा। पाइप पेयजल  आपूर्ति योजना के गुणवत्ता एवं मानकों हेतु जिलाधिकारी, कार्यदायी संस्था एवं उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक कल्याण विभाग का संयुक्त दायित्व निर्धारित किया गया है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

होमियोपैथी कोरोना के नए वैरीअंट के खिलाफ महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है-डॉ एम डी सिंह