जनता को गुणवत्तापरक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता: मुख्यमंत्री





यमुना एक्सप्रेस-वे के समीप 100 बेड का एक अस्पताल एवं ट्राॅमा सेन्टर बनाया जाए



 

लखनऊ: 29 नवम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि जनता को गुणवत्तापरक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने कोविड-19 के उपचार एवं बचाव की प्रभावी व्यवस्था को बनाये रखने के निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर से बेहतर उपचार की सुविधा उपलब्ध करायी जाए।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि विशेषज्ञ डाॅक्टर कोविड वाॅर्ड में नियमित राउण्ड लें। अस्पतालों में दवाओं, मेडिकल उपकरण तथा आॅक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता रहे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि लोगों को कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में निरन्तर जागरूक किया जाए। विभिन्न प्रचार माध्यमों सहित पब्लिक एड्रेस सिस्टम द्वारा जन-जागरूकता का कार्य लगातार जारी रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 के नियंत्रण के सम्बन्ध में राज्य सरकार द्वारा की प्रभावी कार्यवाही की  जा रही है। इस सम्बन्ध में जनता को प्रामाणिक जानकारी देने के लिए मीडिया ब्रीफिंग निरन्तर की जाए।  
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड-19 की मेडिकल टेस्टिंग की प्रभावी व्यवस्था निरन्तर बनी रहे। इसके लिए प्रतिदिन पर्याप्त संख्या में आर0टी0पी0सी0आर0 तथा रैपिड एण्टीजन टेस्ट किये जाए। उन्होंने इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल संेटर को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश भी दिये।
मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये हैं कि नवस्थापित मेडिकल काॅलेजों में पर्याप्त संख्या में चिकित्सकों की व्यवस्था की जाए। निर्धारित संख्या में चिकित्सकों की उपलब्धता से मरीजों को इलाज की बेहतर सुविधा प्राप्त होगी।
मुख्यमंत्री जी ने स्वीकृत मेडिकल काॅलेजों के निर्माण की कार्यवाही को तेजी से आगे बढ़ाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में टेक्निकल और फाइनेंशियल बिड्स एक साथ आमंत्रित की जाएं। उन्हांेंने यमुना एक्सप्रेस-वे के समीप 100 बेड का एक अस्पताल एवं ट्राॅमा सेन्टर बनाए जाने के निर्देश भी दिये हैं।
बैठक में मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
---------






इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या