लखनऊ शहर में मानवाधिकारों की रक्षा और सामाजिक न्याय से संबंधित पर्चे बांट रही महिला संगठनों की नेताओं की गिरफ्तारी की कठोर शब्दों में निंदा

लखनऊ 25 नवंबर। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) राज्य सचिव मंडल ने
लखनऊ शहर में मानवाधिकारों की रक्षा और सामाजिक न्याय से संबंधित पर्चे बांट
रही महिला संगठनों की नेताओं की गिरफ्तारी की कठोर शब्दों में निंदा करते हुए
कहा है कि उत्तर प्रदेश की भाजपा की योगी सरकार लोकतांत्रिक अधिकारों के
कुचलने की सीमा पार कर रही है। मधु गर्ग, सुमन सिंह, चंद्रा ,मीना सहित एडवा,
एपवा ,महिला फेडरेशन के कई प्रांतीय नेताओं को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब
वे जनता के बीच पर्चे बांट रही थी । योगी  सरकार इतनी बुरी तरह से डरी हुई है
कि पर्चे बांटने पर गिरफ्तार कर जेल भेज रही है। माकपा राज्य सचिव मंडल ने
योगी सरकार को आगाह किया है कि यदि वह समझती है कि जनता कीआवाज को दबा कर
दोबारा सत्ता में आ जाएगीत तो यह उसकी भयानक भूल होगी। माकपा राज्य सचिव मंडल
ने गिरफ्तार महिला नेताओं को फौरन रिहा करने की मांग की है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या