पाहूलाल देवालय कालपी में वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की १६५ वी जयन्ती की पूर्व संध्या पर 165 दीप जला कर प्रकाशोत्सव मनाया गया


कालपी,डा अरुण मेहरोत्रा ,पूर्व विधायक कालपी के पैत्रिक पाहूलाल देवालय कालपी में वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई की १६५ वी जयन्ती की पूर्व संध्या पर 165 दीप जला कर प्रकाशोत्सव मनाया गया । प्रथम स्वतंत्रता संग्राम मे रानी ने इस देवालय मे 5 अप्रैल 1858 से 22 मई 1858 तक निवास किया था।
कालपी निवासियों को सुभद्रा कुमारी चौहान की पंक्तियां आज भी याद हैं *रानी बढ़ी कालपी आयी कर सौ मील निरन्तर पार* -



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि