शिक्षित युवाओं को रोजगार व सम्मान दिलाना होगी प्राथमिकता : फेरनलाल

एमएलसी चुनाव को लेकर महरौनी, मड़ावरा के स्नातक मतदाताओं से किया जनसम्पर्क
ललितपुर। इलाहाबाद-झांसी खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव को प्रथम वरीयता देकर भारी मतों से विजयी बनाये जाने को लेकर बुधवार को तहसील महरौनी व मड़ावरा में बैठकों का आयोजन किया गया। बैठक से पहले सपाईयों ने स्नातक मतदाताओं से घर-घर जाकर जनसम्पर्क किया और स्नातक मतदाताओं को समाजवादी पार्टी द्वारा शिक्षित युवाओं, अधिवक्ताओं, कर्मचारियों की समस्याओं को निराकरण कराने के लिए आश्वस्त किया।
 महरौनी में आयोजित बैठक में पूर्व विधायक फेरनलाल अहिरवार ने कहा कि शिक्षित युवाओं को रोजगार देने के लिए समाजवादी पार्टी की सरकार ने अपने शासनकाल में कई रोजगार दिये। उन्होंने कहा कि शिक्षामित्रों, अनुदेशकों, रोजगार सेवकों, सफाई कर्मियों के अलावा कई विभागों में रिक्त पड़े पदों पर स्नातक उत्तीर्ण युवाओं को रोजगार के अवसर दिये गये। उन्होंने स्नातक मतदाताओं से एमएलसी स्नातक के निर्वाचन में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव को प्रथम वरीयता देते हुये भारी मतों से विजयी बनाने का आह्वान किया। शिक्षक सभा जिलाध्यक्ष विजय सिंह ने कहा कि पुरानी पेंशन बहाल कराने, स्नातक व उच्च शिक्षित बेरोजगारों को स्थायी रोजगार सहित तमाम सुविधायें दिलाने, वित्तविहीन शिक्षकों को सम्मानजनक वेतन/मानदेय एवं सेवा पुस्तिका तैयार कराने, शिक्षामित्रों को समायोजित कराके प्राथमिक शिक्षक के पूर्ण वेतनमान, सुविधाओं व सम्मान दिलाने, अधिवक्ता, अनुदेशक, उर्दू शिक्षक, शिक्षा प्रेरक, कम्प्यूटर शिक्षा, आंगनबाड़ी सहित सभी वर्गों के हितार्थ नीति व नियम बनवाना प्राथमिकता में है। उन्होंने जनपद के स्नातक मतदाताओं से आह्वान किया कि वह समाजवादी पार्टी से एमएलसी प्रत्याशी डा.मानसिंह यादव को प्रथम वरीयता देकर भारी मतों से विजयी बनाने का आह्वान किया। इस मौके पर ब्लाक अध्यक्ष नीलेश झां, देशराज कुशवाहा, जगभान सिंह राजपूत, अभय कौशिक, श्रीराम कुशवाहा, पप्पन यादव, राजपाल सिंह, दयाराम विश्वकर्मा, रीतेश साहू, रामशरन तिवारी, राजबहादुर कुशवाहा, रामदास, कुंवरलाल यादव आदि मौजूद रहे। वहीं मड़ावरा में संपन्न हुयी बैठक में डिम्पल सिंघई, छोटू जैन, इमरान, शेर सिंह तोमर, संजय खन्ना, राजेश गन्धर्व, शीलचंद्र, वीरेन्द्र सिंह तोमर, रौशन सिंह, कैलाश कुशवाहा, महेन्द्र सिंह लोधी, भरत राजपूत, माखन कुशवाहा, अतुल यादव, रामसिंह लोधी, देवीसिंह, राजेन्द्र, पुष्पेन्द्र सिंह, संजय पटेल, चिन्तामन, पप्पू यादव आदि मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या