स्थानीय कौशल विकास को बढ़ावा देने के साथ ही उच्च गुणवत्ता युक्त तकनीक विकसित करने में थालेस करेगी सहयोग - सिद्धार्थ नाथ सिंह

श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह द्वारा फ्रांस की थालेस कंपनी के स्टेट आॅफ आर्ट न्यू कारपोरेट आॅफिस का वर्चुअल शुभारम्भ
थालेस कंपनी के आने से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश कार्यक्रम को मिलेगा बल
एम0एस0एस0ई0 मंत्री ने थालेस कंपनी से राफेल, मिराज के पार्ट्स उत्तर प्रदेश में बनाने हेतु
निवेश का किया आग्रह
 
  डिफेंस इण्डिस्ट्रियल काॅरीडोर के तहत थालेस एम0के0यू0 कंपनी के साथ मिलकर
आम्र्ड फोर्स के लिए बनायेगी नाइट विजन डिवाइस
 

लखनऊ, दिनाॅकः 23 नवंबर-2020
       उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम, निवेश तथा निर्यात प्रोत्साहन मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने आज यहां अपने सरकारी आवास से फ्रांस की टेक्नाॅलाजी क्षेत्र की ख्याति प्राप्त कंपनी थालेस के नोएडा में स्टेट आॅफ आर्ट न्यू कारपोरेट आॅफिस का वर्चुअल शुभारम्भ किया। इस कंपनी ने दिल्ली से शिफ्ट होकर नोएडा में अपना कारपोरेट कार्यालय स्थापित किया है। लगभग 1.5 लाख वर्ग फिट में निर्मित छः मंजिला इमारत के इस कार्यालय में 1100 कर्मी कार्यरत हैं।
      श्री सिंह ने इस अवसर पर कहा कि उत्तर प्रदेश में थालेस के आने से प्रधानमंत्री जी के आत्मनिर्भर भारत और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश कार्यक्रम को बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि लड़ाकू विमान मिराज और राफेल देश की वायुसेना के बेड़े में शामिल है। थालेस कंपनी राफेल जैसे एअर क्राफ्ट के लिए रडार, इलेक्ट्रानिक्स वायस सिस्टम, काकपिट डिस्प्ले सिस्टम, पावर जनरेशन सिस्टम सहित अन्य उपकरणों की मैन्यूफैक्चरिंग करती है। इसके साथ ही रक्षा, एरोनाटिक्स, स्पेश, ट्रांसपोर्टेशन, डिजिटल आइडेंटिटी और सिक्यूरिटी मार्केट में भी अपना योगदान दे रही है। उन्होंने कपंनी से इन विमानों के पार्ट्स उत्तर प्रदेश में बनाने हेतु निवेश का आग्रह भी किया है।
      एम0एस0एम0ई0 मंत्री ने कहा कि थालेस ने डिफेंस इण्डस्ट्रियल काॅरीडोर के तहत कानपुर की एम0के0यू0 कंपनी के साथ मिलकर आम्र्ड फोर्स के लिए नाइट विजन डिवाइस बनाने का प्रस्ताव भी दिया है, जिसपर तेजी से काम चल रहा है। इसके अतिरिक्त थालेस डिजिटल आइडेंटिटी एवं सिक्यूरिटी बिजनेस के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश में वृहद इंजीनियरिंग सेंटर के रूप में काम करेगी और स्थानीय कौशल विकास को बढ़ावा देने के साथ ही उच्च गुणवत्ता युक्त तकनीक भी विकसित करने में यू0पी0 को सहयोग देगी।
      एम0एस0एम0ई0 मंत्री ने कहा कि थालेस कंपनी देश में एच0ए0एल, भेल, एल एण्ड टी0 जैसी नामी-गिरामी कंपनियों के साथ टेक्नालाॅजी के क्षेत्र में काम कर रही है। इससे स्पष्ट है कि उत्तर प्रदेश में इस कंपनी का कार्यालय खुलने से रक्षा क्षेत्र में प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने में मदद मिलेगा। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा था जब इलेक्ट्रानिक्स और डिफेंस क्षेत्र की कंपनियां केवल दक्षिण भारत की तरफ जाती थी, लेकिन अब समय बदला है और तीन साल से इस क्षेत्र की कंपनियां उत्तर प्रदेश की ओर आकर्षित हो रही हैं। माइक्रोसाफ्ट के कैम्पस की स्थापना और अब थालेस का आना इसका उदाहरण हैं। उन्होंने कहा कि थालेस के आने से उत्तर प्रदेश में रक्षा क्षेत्र के लिए मील का पत्थर साबित होगा और डिफंेस कारीडोर की अलग पहचान बनेंगी। उन्होंने थालेस के कारपोरेट कार्यालय के नोएडा में स्थापना के प्रति कंपनियों के अधिकारियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि निश्चित ही कंपनी अपने विजन में सफल होगी और निवेशकों को भी उत्तर प्रदेश कीे ओर आकर्षित करेगी। राज्य में उच्च टेक्नालाॅजी का विकास होगा और अधिकाधिक रोजगार के अवसर सृजित होंगे।
      एम0एस0एम0ई0 मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आयोजित डिफेंस एक्सपो के दौरान थालेस कंपनी के मुख्य कार्यपाल अधिकारी से भेंट हुई थी। उन्होंने रक्षा क्षेत्र में निवेश के साथ ही अपना कारपोरेट कार्यालय प्रदेश में स्थापित करने की इच्छा प्रकट की थी। कोविड-19 के दौरान भी कंपनी से लगातार समन्वय बनाये रखा गया। जिसके परिणाम स्वरूप यह उपलब्धि प्राप्त हुई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के कुशल नेतृत्व में थालेस जैसी बड़ी कंपनी ने उत्तर प्रदेश की ओर रूख किया। राज्य सरकार के सकारात्मक प्रयासों और निवेशकों के हितपरक नीतियों के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश में निवेश का माहौल तैयार हुआ है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश ईज आॅफ डूईंग में 12 वें स्थान से दूसरे स्थान पर आया है।
      इस अवसर पर थालेस के इण्डिया में कंट्री हेड इमैनुअल डी आर ने थालेस कंपनी के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि यह कंपनी टेक्नालाॅजी के क्षेत्र पूरे विश्व में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। यह कंपनी विश्व के 68 देशों में कार्य कर रही है। इसमें 83 हजार कर्मी कार्यरत है। विश्व भर में इस कंपनी का टर्नओवर लगभग 20 बिलियन डालर है। उन्होंने अवगत कराया कि
इस मौके पर भारत में फ्रांस के राजदूत श्री इमैनुअल लेनिन, थालेस गु्रप के भारत, अफ्रीका और मध्य एशिया के प्रतिनिधि श्री जीन मार्क बुदिन वर्चुअल माध्यम से जुड़े थे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या