स्वास्थ्य के साथ बच्चों की पढ़ाई पर मंथन श्रम विभाग में भी चल रहीं बच्चों की शिक्षा योजना एक्शन एड-एबीसीएल ने कराई जिला स्तरीय नेटवर्किंग मीटिंग








हमीरपुर, 27 नवंबर 2020। 

कोरोना काल में लोगों के स्वास्थ्य के साथ अब बच्चों की पढ़ाई पर भी ध्यान देने की जरूरत है। शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर कैसे लाया जाए, यह एक बड़ा सवाल है। इसी को लेकर एक्शन एड, यूनीसेफ और आदित्य बिड़ला कैपिटल के संयुक्त तत्वावधान में भिलावां में पैरामेडिकल सभागार में जिला स्तरीय नेटवर्किंग मीटिंग आयोजित की गई। प्रेरकों, एसएमसी सदस्यों व शिक्षा क्षेत्र जुड़े लोगों ने इस पर मंथन किया गया।

श्रम प्रवर्तन अधिकारी अरुण कुमार तिवारी ने विभाग की ओर से शिशु हित लाभ योजना, संत रविदास शिक्षा योजना सहित कई योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नवोदय विद्यालय की तर्ज पर श्रमिक स्कूल का निर्माण कार्य चल रहा है। शीघ्र ही यह पूरा हो जाएगा। यहां पंजीकृत मजदूरों के बच्चों को शिक्षा दी जाएगी। सर्व शिक्षा अभियान के जिला समन्वयक मनोज कुमार पालीवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते इस साल स्कूलों में पढ़ाई बाधित है। शिक्षक व एक्शन एड के प्रेरकों द्वारा किए गए शारदा सर्वे में आउट आफ स्कूल व ड्राप आउट बच्चों को चिन्हीकरण हुआ है। नामांकन प्रक्रिया जारी है। विद्यालय प्रबंध समिति की जिम्मेदारी है कि वह इसमें सहयोग करें। 

दिव्यांग शिक्षा के जिला समन्वयक लखनलाल साहू ने दिव्यांग बच्चों के लिए शिक्षा विभाग की ओर से उपकरण दिए जाते हैं। उन्होंने प्रेरकों से कहा कि गांव में दिव्यांग बच्चा मिलने पर उनको सूचना दें। ताकि उस बच्चे की सहायता हो सके। बालिका शिक्षा जिला सन्वयक शत्रुन्जय शर्मा ने भी अपने विचार रखे। संस्था के जिला समन्वय अशोक कुमार ने कहा कि जनपद के 25 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों को मॉडल स्कूल के रूप में स्थापित करने के लिए सभी मिलकर सहयोग करें। सहायक जिला समन्वयक (एडीसी) इमरान अली नेे कहा कि संक्रमण से बचने के लिए बच्चों में भी सामाजिक दूरी, मास्क लगाने और साबुन से बार-बार हाथ धोने की आदत डालनी चाहिए। 

बैठक में  श्रम विभाग के सूरजभान सिंह, परमलाल सेवा समिति के निदेशक डा. एके चक्रवर्ती, रघवा प्रधान देवीदयाल शिक्षा प्रेरक जगत द्विवेदी, अमित कुमार, शबीना खातून, मंदाकिनी, यासमीन, जयकिशन, महेंद्र, अभिषेक, सत्येंद्र कुमार, शैलेंद्र कुमार, लालबहादुर प्रजापति, गायत्री, अमर, महेश कुमार इत्यादि उपस्थित रहे।


 

 




 

 



 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या