तय मांगो पर आदेश न होेने से नाराज पंचायती राज सफाई कर्मी करेगें आन्देालन राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद की महाहड़ताल के दौरान हाईकोर्ट दी गई थी सफाई


लखनऊ,29 नवम्बर। उत्तर प्रदेश ग्राम पंचायत राज सफाई कर्मचारी संघ की प्रान्तीय कार्यकारिणी की बैठक प्रदेश अध्यक्ष नरेन्द्र पाल सिंह की अध्यक्षता में की गई। इस बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री शिवबरन सिंह यादव मौजूद रहें। बैठक का संचालन प्रदेश महामंत्री राकेश चैधरी द्वारा किया गया। बैठक में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के आहवान पर 2013 के दौरान हुई महाहड़ताल के दौरान पंचायती राज्य सफाई कार्मिकों के सम्बंध में हाईकोर्ट में पंचायती राज सफाई कार्मिकों के वेतन और पदोन्नति सम्बंधित सफाई का अनुपालन आदेश अब तक जारी न होने पर आक्रोष जाहिर करते हुए एक दिसम्बर 2020 से आन्दोलन का निर्णय लिया गया। बैठक में तय किया गया कि एक दिसम्बर से जनपद स्तर पर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, पंचायत राज मंत्री और प्रमुख सचिव पंचायत राज को ज्ञापन प्रेषित किया जाएगा।  एक जनवरी 2021 से जनपदीय स्तर पर स्थानीय विधायक, सांसद को ज्ञापन प्रेषित किया जाएगा। 31 जनवरी 2021 को प्रान्तीय कार्यकारिणी की बैठक में वृहद आन्देालन की घोषणा की जाएगी।
बैठक को सम्बोधित करते हुए राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री शिवबरन सिंह यादव ने कहा कि वर्ष 2013 की महाहड़ताल के दौरान जिन चार मांगों में सहमति का शपथ पत्र प्रदेश सरकार की तरफ से दाखिल किया गया था उसमें पंचायती राज विभाग के अधीन कार्यरत सफाई कार्मिकों के वेतन के सम्बंध में प्रमाणीकरण का अधिकार प्रधान की जगह ग्राम विकास अधिकारी को देने और सफाई कार्मिकों की पदोन्नति व्यवस्था को लागू करने बाॅत कही गई थी। लेकिन इसका अनुपालन अब तक नही किया गया। जबकि 19 नवम्बर 2020 को विशेष सचिव पंचायती राज द्वारा पुनः कहा गया कि उक्त आदेश दे दिये गए है लेकिन ऐसा अब तक नही हुआ। बैठक में प्रदेश अध्यक्ष नरेन्द्र पाल सिंह कहा कि उनकी मुख्य मंागों में मासिक वेतन ग्राम प्रधान की अनुशंसा को समाप्त किया जाए। पदोन्नति व्यवस्था लागू की जाए। जिसमें प्रथम पदोन्नति न्याय पंचायत स्तर पर सफाई नायक वेतनमान 1900 रूपये,दूसरी ब्लाक स्तर पर ब्लाक पर्यवेक्षक वेतनमान 2400 रूपये और तीसरे जिला स्तर पर जिला निरीक्षक वेतनमान 2800 रूपये किया जाए। जबकि अपने सम्बोधन में महामंत्री राकेश चैधरी ने कहा कि 2008 से पंचायत राज सफाई कामिकों की सेवानियमावली न बनने से संवर्ग का काफी अहित हो रहा है। सरकार इस संवर्ग की सेवानियमावली का तत्काल सृजन कराये तथा पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल की जाए। इस बैठक में कर्म सिंह प्रदेश संगठन मंत्री,अशोक बाबू,बनवारीलाल,रामसकल वर्मा,मनेाज कुमार वाल्मिकी, तेजपाल, प्रवेश कुमार सागर, भारत सिंह,कुलदीप कुमार, जगदीश कुमार बाल्मिकी, रविन्द्र गौतम आदि ने सम्बोधित किया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या