वर्ष 2022 तक ‘‘सभी बेघर को घर‘‘ देने के लक्ष्य को उत्तर प्रदेश पूर्ण करने की ओर अग्रसर-ग्राम्य विकास मंत्री, राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘मोती सिंह‘






आवास दिवस पर केन्द्रीय आवास मंत्री ने वीडियो कान्फ्रेन्सिंग द्वारा प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री से की चर्चा

 

इस वर्ष उत्तर प्रदेश को मिला 5.52 लाख प्रधानमंत्री आवास निर्माण का लक्ष्य

 


 

आज 20 नवम्बर, 2020 को ‘‘आवास दिवस‘‘ के अवसर पर श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, मा0 मंत्री, ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार एवं केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्य मंत्री,  सुश्री साध्वी निरंजन ज्योति द्वारा देश के सभी राज्यों के मा0 मंत्री, ग्राम्य विकास के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के आवासों की पूर्ति एवं आवंटित नये लक्ष्य को समयबद्ध ढंग से पूरा करने तथा ‘‘‘आवास दिवस‘‘ के विषय में परिचर्चा की गई। इस अवसर पर सचिव, ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार श्री एन0एन0 सिन्हा भी उपस्थित थे।

 

      उत्तर प्रदेश के ग्राम्य विकास मंत्री, श्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘मोती सिंह‘ एवं अपर मुख्य सचिव, ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह तथा आयुक्त, ग्राम्य विकास श्री योगेश कुमार, आयुक्त, ग्राम्य विकास द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सम्पन्न परिचर्चा में प्रतिभाग किया गया। उल्लेखनीय है कि आज ही के दिन 20 नवम्बर, 2016 को उत्तर प्रदेश के आगरा जनपद से मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा ‘‘प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण‘‘ का शुभारम्भ किया गया था। तभी से ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा इस दिवस को ‘‘‘आवास दिवस‘‘ के रूप में मनाया जाता है। इस दिवस को योजना के प्रचार-प्रसार के अलावा लाभार्थियों को जागरूक करने तथा उन्हें अनुमन्य लाभ उपलब्ध कराने की कार्यवाही की जाती है।

 

ग्राम्य विकास मंत्री, उत्तर प्रदेश द्वारा आवासों को पूरा करने के संबंध में कार्ययोजना प्रस्तुत की गई। ग्राम्य विकास मंत्री, उत्तर प्रदेश द्वारा अवगत कराया गया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016-17 से वर्ष 2019-20 तक उत्तर प्रदेश को कुल 14.61 लाख आवास निर्माण का लक्ष्य दिया गया था, जिसके सापेक्ष प्रदेश द्वारा 14.32 लाख आवासों का निर्माण पूर्ण कराते हुए उत्तर प्रदेश आवासों की पूर्णता में प्रथम स्थान पर है।

 

वर्ष 2020-21 में आवास प्लस की सूची से ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा 5.52 लाख आवास निर्माण का लक्ष्य प्रदेश को अक्टूबर, 2020 के प्रथम सप्ताह में प्राप्त हुआ जिसके सापेक्ष अब तक 2.51 लाख लाभर्थियों का पंजीकरण करते हुए 1.90 लाख लाभार्थियों के आवास स्वीकृत किये जा चुके हैं। ग्राम्य विकास मंत्री जी द्वारा केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री को आश्वस्त किया गया कि अगले 02 सप्ताह में शत-प्रतिशत आवासों की स्वीकृति पूर्ण कराते हुए मार्च, 2021 तक इन सभी आवासों का निर्माण पूर्ण कर लिया जायेगा।

 

 ग्राम्य विकास विभाग द्वारा कोविड-19 के दौरान प्रवासी भारतीयों को मनरेगा से रोजगार उपलब्ध कराने एवं गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अन्तर्गत मनरेगा एवं आवासों की गतिविधियों से अवगत कराते हुये ग्राम्य विकास विभाग, उ0प्र0 द्वारा किये गये सराहनीय प्रयास से भी ग्राम्य विकास मंत्री द्वारा केन्द्रीय मंत्री जी को अवगत कराया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के क्रियान्वयन में आ रही समस्या से मा0 केन्द्रीय मंत्री, ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार को अवगत कराते हुए तथा उसके समाधान के लिये अनुरोध किया गया।

 

श्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘मोती सिंह‘ द्वारा आज आयोजित आवास दिवस एवं 16 नवम्बर, 2020 से 22 नवम्बर, .2020 तक आयोजित किये जाने वाले आवास सप्ताह में आयोजित की जाने वाली गतिविधियों से भी केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री को अवगत गया। ग्राम्य विकास मंत्री, उ0प्र0 सरकार द्वारा ग्राम्य विकास की योजनाओं में भारत सरकार के सहयोग एवं मार्गनिर्देश के लिये केन्द्रीय मंत्री जी को धन्यवाद दिया गया तथा आश्वस्त किया गया कि उ0प्र0 प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत हमेशा अच्छा कार्य किया है, आगे भी प्रदेश अच्छी प्रगति देगा तथा मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा जो वर्ष 2022 तक ‘‘सभी बेघर को घर‘‘ देने का लक्ष्य रखा गया है, उसको प्रदेश मा0 मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 के कुशल एवं प्रभावी नेतृत्व में पूर्ण करेगा।


 

 




 

A



 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या