योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी विभागीय कार्यों को समयानुसार किया जाये- रमापति शास्त्री

लखनऊ: 02 नवम्बर, 2020
     उत्तर प्रदेश के समाज कल्याण मंत्री श्री रमापति शास्त्री ने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। विभागीय कार्यों को समयानुसार किया जाये। योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों को अवश्य दिलाया जाये। सभी विभागीय अधिकारी अपने-अपने दायित्वों का निर्वहन ईमानदारी से करना सुनिश्चित करें। मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन अवश्य किया जाये।
श्री शास्त्री ने आज पराग नरायन रोड स्थित समाज कल्याण निदेशालय में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि समाज कल्याण विभाग बहुत ही महत्वपूर्ण विभाग है। विभाग द्वारा समाज के गरीब व्यक्तियों के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित कर समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को लाभान्वित करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का प्रचार-प्रसार कराते हुए आमजन मानस कोें सही जानकारी प्रदान की जाये, जिससे आम जनमानस योजनाओं का लाभ ले सकें। उन्होंने कहा कि विभागीय कार्यों में यदि कहीं किसी अधिकारी/कर्मचारी द्वारा लापरवाही एवं ढिलाई करते हुए पाया जायेगा तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। वृद्धावस्था पेंशन योजना की समीक्षा करते हुए श्री शास्त्री ने कहा कि पेंशनरों की पेंशन समयानुसार उपलब्ध कराने का काम किया जाये इसका अवश्य ध्यान रखा जाये। राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना के तहत लम्बित प्रकरणों का शीघ्र निस्तारण कराते हुए पात्र लाभार्थियों को लाभान्वित किया जाये। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए विवाह का आयोजन कराया जाये।
श्री शास्त्री ने वृद्धावस्था/किसान पेंशन, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, अनुसूचित जाति एवं सामान्य वर्ग के निर्धन व्यक्तियों की पुत्रियों के विवाह योजना, वृद्धाश्रम संचालन योजना, विभागीय लम्बित वादों में प्रतिशपथ-पत्र दाखिल करने, अति पिछड़े अनुसूचित जाति समूह के सर्वांगीण विकास हेतु एकीकृत विकास योजना की प्रगति की समीक्षा की।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव समाज कल्याण श्री बी0एल0 मीना ने कहा कि मंत्री जी द्वारा आज की इस समीक्षा बैठक में जो भी निर्देश दिये गये हैं, उनका पालन अवश्य किया जाये, इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं की जाये।
इस अवसर पर निदेशक समाज कल्याण श्री बालकृष्ण त्रिपाठी सहित अन्य सम्बंधित विभागीय अधिकारी आदि उपस्थित रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर