17 जनवरी से 24 जनवरी 2021 तक चलाया जाये पल्स पोलियो राउण्ड

लाॅजिस्टिक प्लान बनाकर कोविड वैक्सीन स्टोरेज उपकरणों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था करें।

सम्बन्धित अधिकारियों से शत-प्रतिशत हेल्थ वर्कर का डेटा अपलोड करने काप्रामण-पत्र लिया जाये

वैक्सीनेटर्स को प्रशिक्षण देने की शीघ्र व्यवस्था हो

अर्हता प्राप्त कर चुकी ए.एन.एम. को प्रोन्नत करने का प्रस्ताव बनाया जाये

कल03 दिसम्बर, 2020 को देर शाम तक अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने टीकाकरण और कोविड वैक्सीन की तैयारी पर समीक्षा कर दिए निर्देश



लखनऊ: 04दिसम्बर, 2020

प्रदेश में चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि आगामी 17 जनवरी से 24 जनवरी 2021 तक पूरे प्रदेश में बच्चों को पल्स पोलियो ड्राप पिलाने का अभियान चलाया जाये। उन्होंने कहा इसका दूसरा चरण भी आवश्यक अंतराल के बाद फरवरी में पूरा कर लिया जाये। उन्होंने कहा कोविड वैक्सीन हेतु कोल्ड चेन के दृष्टिगत उपलब्ध कराए जा रहे वैक्सीन स्टोरेज के उपकरणों को लाजेस्टिक प्लान बनाकर वितरण सुनिश्चित करें।
अपर मुख्य सचिव कल 03 दिसम्बर, 2020 को देर शाम तक प्रदेश में कोविड-19 वैक्सीन टीकाकरण की तैयारी, नियमित टीकाकरण, विशेष टीकाकरण अभियान एवं पल्स पोलियों के संबंध में स्टेट टास्क फोर्स बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। कोविड-19 वैक्सीन की तैयारियों के दृष्टिगत उन्होंने हर जिले में वैक्सीनेटर्स की लिस्टिंग, हब सेन्टर्स, वायो मेडिकल वेस्ट की व्यवस्था तथा वैक्सीनेटर्स के प्रशिक्षण की व्यवस्था की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा जिले पर संबंधित अधिकारियों को शत-प्रतिशत हेल्थ वर्कर्स का डेटा अपलोड करने का निर्देश दिया जाए, साथ ही उनसे कार्य पूर्ण करने का प्रमाण पत्र भी लिया जाये। उन्होंने वैक्सीनेटर्स को प्रशिक्षण देने की शीघ्र व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया। उन्होंने कहा ग्रामीण क्षेत्रों में ए.एन.एम. बड़े स्तर पर चिकित्सीय सेवाओं को उपलब्ध कराने में सहयोग कर रही है। जो ए.एन.एम. आवश्यक अर्हताएं पूर्व कर चुकी हैं, विभाग उनकी प्रोन्नति का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें।
बैठक में अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि आधिकारी भारत सरकार से प्राप्त टीकाकरण संबंधी निर्देशों पर वहां के विशेषज्ञों से अधिक से अधिक जानकारी प्राप्त कर प्रदेश में टीकाकरण अभियानों को और अधिक संपुष्ट करें। उन्होंने कहा प्रदेश के हर बच्चे के सम्पूर्ण टीकाकरण का लक्ष्य होना चाहिए, इसलिए छूटे हुए बच्चों के लिए विशेष टीकाकरण अभियान चलाते समय उन्ही बच्चों की सूची को केन्द्रित किया जाये। मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने टीकाकरण अभियानों में हाई लोड वाले जिलों में टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ाने पर जोर दिया।
टास्क फोर्स की इस बैठक में अपर मुख्य सचिव अमित मोहन की अध्यक्षता में प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य आलोक कुमार, महानिदेशक परिवार कल्याण राकेश दुबे, महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य देवेन्द्र नेगी, राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी, कार्यक्रम अधिकारी यूनीसेफ सहित समस्त संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या