दबंगों से अवैध कब्जा मुक्ति की गुहार लगा रहे दीवान और सिपाही

मामला विचारधीन फिर भी इंस्पेक्टर की शह पर दीवान और सिपाही की जमीन पर अवैध निर्माण मुख्यमंत्री और पुलिस महानिदेशक को भेजी प्रमाण सहित शिकायत लखनऊ 30 दिसम्बर 2020। जी हाॅ मामला लखनऊ के जानकीपुरम थाने से जुड़ा और चैकाने वाला है। एक ओर जहाॅ दावा किया जा रहा है कि राजधानी में भूमाफियों और दबंगों कमर तोड़ दी गइ्र्र है वही दूसरी तरफ एक दीवान और एक सिपाही की जमीन पर दबंगा अवैध निर्माण करा रहे है और जानकीपुरम थाने के इंस्पेक्टर अपने ही विभाग के पीड़ितों की तहरीर तक लेने को तैयार नही है। यही नही उक्त मामला न्यायालय सिविल जज सीडी लखनऊ के आधीन विचारधीन है जिसकी अगली सुनवाई एक जनवरी 2021 निर्धारित है। पीड़ित दीवान और सिपाही ने इंस्पेक्टर की अनदेखी को देखते हुए प्रमाणिक शिकायत मुख्यमंत्री और पुलिस महानिदेशक को भेजकर न्याय की गुहार तथा अवैध निर्माण रोकने की मांग की है। पीड़ित राजेश्वरी मिश्रा पत्नी सिपाही प्रमोद मिश्रा और दीवान कमलेश बहादुर सिंह चैहान ने बताया कि उन्होंने भारत सहकारी आवास समिति के माध्यम से भूखण्ड गाटा संख्या 904 रकबा 2000 वर्ग फीट और 1500 वर्ग फीट क्रमश अप्र्रैल 2002 में क्रय किया था जिसका कब्जा उक्त दोनों खरीददारों चैहद्दी के अनुसार कब्जा दे दिया गया था। गत अक्टूबर 2020 को आरबीआई कालोनी आवास नम्बर बी 218 शिवम सिंह पुत्र राजेश सिंह द्वारा जब उक्त दोंनो प्लाॅटों पर अवैध कब्जे की जानकारी दीवान और सिपाही के परिजनों को हुई तो पीड़ितों ने 23 अक्टूम्बर 2020 को थानाध्यक्ष जानकीपुरम और उप जिलाधिकारी बीकेटी लखनऊ को प्रार्थना पत्र देकर अवैध कब्जा करने वालों पर कार्रवाई का अनुरोध किया। कुछ दिनों तक मामला शान्त रहा इस बीच शिवम सिंह द्वारा स्थालीय निरीक्षण कराने का प्रार्थना पत्र देकर बिना दूसरे पक्ष के एक तरफा आदेश कराया गया। लेकिन जो आख्या प्रेषित की गई उसमें खसरा संख्या 904 का कोई उल्लेख न करते हुए केवल शिवम सिंह की चैहह्दी का मिलान करने की आख्या प्रेषित की गई जो नियमानुसार गलत है। इसी की आड़ में उनके द्वारा पीड़ित दीवान और सिपाही के प्लांटों पर दबंगई करते हुए अवैध निर्माण पुनःशुरू कर दिया गया है। जब पीड़ितों ने इसकी लिखित तहरीर इंस्पेक्टर जानकीपुरम को देनी चाही तो उन्होंने लेने से मना कर दिया। अब पीड़ित दीवान और सिपाही ने मुख्यमंत्री और पुलिस महाििनदेशक से न्याय की गुहार लगाई है। दीवान कमलेश बहादुर सिंह, राजेश्वरी मिश्रा पत्नी प्रमोद मिश्रा सिपाही 07518800800 09450025366 -8960330330

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?