एचआईवी की जानकारी ही सबसे सटीक बचाव: क्षय रोग अधिकारी

विश्व एड्स दिवस पर जन-जागरूकता शिविर का आयोजन


 

ललितपुर। 

विश्व एड्स दिवस के अवसर पर एक जन जागरूकता शिविर का आयोजन कांशीराम कॉलोनी आर.एम.वी. महाविद्यालय में जिला क्षयरोग नियंत्रण केन्द्र एवं सोसायटी फॉर प्रगति भारत संस्था के सहयोग से किया गया। इस अवसर पर जन जागरूकता शिविर में आये हुये नागरिकों को क्षयरोग अधिकारी डा.जे.एस.बख्शी ने एच.आई.वी. वायरस तथा एड्सरोग के मध्य अंतर पर जानकारी प्रदान की और बताया कि एड्स की बीमारी असुरक्षित यौन सम्बंधों, संक्रमित र्सुइंयों, संक्रमित खून के चढ़ाने, संक्रमित गर्भवती मां से उसके होने वाले बच्चे में फैलती है और यह भी जानकारी दी गयी कि एचआईवी पॉजीटिव मरीज के साथ कोई भेद-भाव नहीं करना चाहिए क्योंकि एड्स की बीमारी रोगी के छींकने, खांसने, हाथ मिलाने या साथ में खाना खाने से नहीं फैलती है ऐसे मरीजों को प्रोत्साहित कर उनके पूर्ण उपचार प्राप्त करने में सहयोग करें। 

इसके अतिरिक्त एच.आई.वी./एड्स के फैलने के कारण, बचाव के उपाय तथा इस वर्ष की थीम ''वैश्विक एकजुटता, साझा जिम्मेदारीÓÓ पर विस्तार से जानकारी प्रदान की। एड्स एक जानलेवा बीमारी हैं जो हर उम्र के व्यक्तियों को प्रभावित कर रहा हैं। खासतौर से युवा पीढ़ी में एड्स तेजी से फैल रहा हैं। एड्स का ऐसे तो कोई इलाज नहीं है लेकिन यदि कोई व्यक्ति एचआईवी के संभावित संक्रमण में आता हैए तो एआरटी एंटीरेट्रोवाइरल थेरेपीद्ध सेंटर पर जाकर पीईपी ;पोस्ट एक्सपोजर प्रोफिलेक्सिसद्ध दवा की पहली डोज़ 72 घंटे के अंदर ले ले एव 28 दिन तक लगातार यह दवा लेने से एड्स के प्रभाव को खत्म किया जा सकता है। अगर हम आंकडों की बात करें तो जनपद में वर्ष 2018 में 22141 टेस्ट किये गये थे जिसमें 29 व्यक्ति, वर्ष 2019 में 24099 टेस्ट किये गये थे जिसमें 37 व्यक्ति और वर्ष 2020 में अक्टूबर माह तक 7366 टेस्ट किये गये जिसमें 19 व्यक्ति एच0आई0वी0 पॉजिटिव पाये गये हैं और ए0आर0टी0सेन्टर झांसी मेडिकल कॉलेज से उपचार प्राप्त कर रहे हैं। जिले में एड्स की जांच के लिये आईसीटीसी सेन्टर जिला चिकित्सालय, ललितपुर, सामु0स्वा0केन्द्र तालबेहट/महरौनी/मड़ावरा में स्थापित हैं वहीं गर्भवती महिलाओं में इसकी जांच के लिये जिला महिला चिकित्सालय, ललितपुर में पीपीटीसीटी केन्द्र स्थापित है।

शिविर का समापन करते हुये सोसायटी फॉर प्रगति भारत की प्रोजेक्ट डायरेक्टर दीपाली पटैरिया ने जन जागरूकता शिविर में आये हुये सभी नागरिकों का आभार व्यक्त किया।  इस अवसर पर जिला क्षयरोग नियंत्रण केन्द्र के आदेश श्रीवास्तव, शिवराम सिंह, अहाना प्रोजेक्ट के प्रतिनिधि शंकर सिंह अक्षय प्रोजेक्ट के विवेक सिंह एवं स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं ने प्रतिभाग किया। शिविर में उपस्थित नागरिकों एवं कॉलोनी के निवासियों की एच0आई0वी0 की नि:शुल्क जांच भी की गयी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या