मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कल 03 दिसम्बर, 2020 को एम0एस0एम0ई0 लोन मेला का आयोजन

मुख्यमंत्री द्वारा कुल 3,54,825 इकाइयों को 

10,390 करोड़ रु0 का ऋण वितरित किया जाएगा 

 

3,24,911 नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयों को 9,074 करोड़ रु0 

तथा पूर्व स्थापित 29,914 इकाइयों को ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के अन्तर्गत 1,316 करोड़ रु0 का ऋण वितरित किया जाएगा

 

‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ के प्रशिक्षार्थियों 

को उन्नत टूल किट वितरित करेंगे

 

मुख्यमंत्री एम0एस0एम0ई0 विभाग की विभिन्न 

योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे

 


लखनऊ: 02 दिसम्बर, 2020


     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की अध्यक्षता में कल यहां 03 दिसम्बर, 2020 को एम0एस0एम0ई0 लोन मेला का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी नई एम0एस0एम0ई0 के साथ-साथ पूर्व स्थापित इकाइयों को आत्मनिर्भर भारत पैकेज के अन्तर्गत ऋण वितरित करेंगे।
      मुख्यमंत्री जी द्वारा कुल 3,54,825 इकाइयों को 10,390 करोड़ रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें 3,24,911 नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयों को 9,074 करोड़ रुपए तथा पूर्व स्थापित 29,914 इकाइयों को ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के अन्तर्गत 1,316 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किया जाएगा।
      मुख्यमंत्री जी ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ के प्रशिक्षार्थियों को उनके व्यवसाय से सम्बन्धी उन्नत टूल किट भी वितरित करेंगे। वे एम0एस0एम0ई0 विभाग की विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद भी करेंगे।
     इस सम्बन्ध में विभाग द्वारा उपलबध कराये गये विवरण के अनुसार वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-21 में अब तक तीन चरणों में एम0एस0एम0ई0 इकाइयों को ऋण उपलब्ध कराया जा चुका है। 01 अप्रैल से 13 मई, 2020 की अवधि में पहले चरण के अन्तर्गत 56,754 नई इकाइयों को ऋण के रूप में 2,002 करोड़ रुपए की धनराशि उपलब्ध कराई गई। 15 मई से 24 जून, 2020 तक द्वितीय चरण में 4,03,646 इकाइयों को 10,599 करोड़ रुपए का ऋण उपलब्ध कराया गया। इसमें 1,35,666 नवीन एम0एस0एम0ई0 इकाइयों को 4,034 करोड़ रुपए तथा ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के अन्तर्गत 2,67,980 पूर्व स्थापित इकाइयों को 6,565 करोड़ रुपए का ऋण सम्मिलित है।
    तृतीय चरण के दौरान 25 जून से 04 अगस्त, 2020 तक 2,69,291 इकाइयों को 7,841 करोड़ रुपए का ऋण वितरित किया गया। इसके तहत 1,29,753 नवीन इकाइयों को 4,661 करोड़ रुपए तथा ‘आत्मनिर्भर भारत योजना’ के अन्तर्गत पूर्व स्थापित 1,39,538 इकाइयों को 3,180 करोड़ रुपए की ऋण राशि सम्मिलित है।

-------


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?