राज्य सरकार जनता को गुणवत्तापरक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिये प्रतिबद्ध: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए

 

जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, मेरठ, आगरा तथा वाराणसी पर विशेष ध्यान देने के निर्देश

 

चिकित्सा शिक्षा मंत्री द्वारा लखनऊ के एस0जी0पी0जी0आई0, के0जी0एम0यू0 तथा आर0एम0एल0आई0एम0एस0 के प्रमुखों के साथ बैठक कर इन चिकित्सा संस्थानों की उपचार व्यवस्था की समीक्षा की जाए

 

सभी मेडिकल काॅलेजों में सम्बन्धित मण्डलायुक्त तथा जिलाधिकारी जाकर बैठक करें 

 

यह सुनिश्चित किया जाए कि विशेषज्ञ चिकित्सक कोविड वाॅर्ड में नियमित राउण्ड लें 

 

कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की आवश्यकता का आकलन करते 

हुए अतिरिक्त बेड्स की व्यवस्था के लिए विशेष प्रयास किये जाएं

 

कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में जागरूकता कार्यक्रम निरन्तर संचालित किया जाए

 

इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का संचालन पूरी सक्रियता से किया जाए

 

काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश

 


लखनऊ: 03 दिसम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि राज्य सरकार जनता को गुणवत्तापरक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने कोविड-19 से बचाव तथा उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, मेरठ, आगरा तथा वाराणसी पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री द्वारा लखनऊ के एस0जी0पी0जी0आई0, के0जी0एम0यू0 तथा आर0एम0एल0आई0एम0एस0 के प्रमुखों के साथ बैठक कर इन चिकित्सा संस्थानों की उपचार व्यवस्था की समीक्षा की जाए। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि सभी मेडिकल काॅलेजों में सम्बन्धित मण्डलायुक्त तथा जिलाधिकारी जाकर बैठक करें। यह सुनिश्चित किया जाए कि विशेषज्ञ चिकित्सक कोविड वाॅर्ड में नियमित राउण्ड लें, इससे मरीजों को बेहतर उपचार सुलभ होगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्था प्रत्येक दशा में सुनिश्चित की जाए। इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता नहीं बरती जानी चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीजों की भर्ती में कोई समस्या न पेश आए। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की आवश्यकता का आकलन करते हुए अतिरिक्त बेड्स की व्यवस्था के लिए विशेष प्रयास किये जाएं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिये हर स्तर पर सतर्कता बरती जाए। इस सम्बन्ध में जागरूकता कार्यक्रम निरन्तर संचालित किया जाए। इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का संचालन पूरी सक्रियता से किया जाए। उन्होंने काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश भी दिए।
बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 तथा सूचना श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि श्री देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास श्री आलोक कुमार, अपर मुख्य सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन श्री टी0 वेंकटेश, अपर मुख्य सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण श्री मनोज सिंह, अपर मुख्य सचिव सहकारिता श्री एम0वी0एस0 रामी रेड्डी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव नमामि गंगे तथा ग्रामीण जल संसाधन श्री अनुराग श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

---------



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?