स्थानीय स्तर पर भी रोजगार के अधिक से अधिक अवसर पैदा हो और लोगों को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार के अवसर मिले - नवनीत सहगल

प्रदेश में आर0टी0पी0सी0आर0 की टेस्टिंग की दर 1600 से घटाकर 700 रू0 कर दिया गया है अगर घर से सैम्पल लिया जाता है तो 900 रूपये देना होगा
-अमित मोहन प्रसाद
¬¬¬¬लखनऊ: 03 दिसम्बर, 2020
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि सभी से अपील है कि कोविड-19 के गाइडलाइन का शत-प्रतिशत पालन अवश्य करे। इस समय सभी लोगों को विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। मास्क पहनें, हाथ धोते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग रखें तथा भीड़भाड़ से दूर रहें। दिल्ली में संक्रमण बढ़ने से प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों में कुछ संक्रमण के केसों में बढ़ोत्तरी हुयी है। प्रदेश में हाॅटस्पाॅट तथा कन्टेनमेंट जोन में लगातार गिरावट आ रही है।
श्री सहगल ने बताया कि आर्थिक गतिविधियां और अधिक तेजी से बढ़ें, इसके लिए प्रदेश सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है। आज मुख्यमंत्री जी के कर कमलों द्वारा लगभग   3.54 लाख एम0एस0एम0ई0 इकाइयांे को जिनमें से 3,24,911 नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांे को 9074 करोड़ रूपये और 29,914 पूर्व से कार्यरत एम0एस0एम0ई0 इकाइयांे में 1316 करोड़ रूपये ऋण का वितरण किया गया। उन्होंने बताया कि यह ऋण पहले से स्वीकृत थे, 6.48 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 19,772 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है। आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 11,062 करोड़ के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत कर वितरित किये जा रहे हैं। दोनों इकाइयों को मिलाकर इस वित्तीय वर्ष में 10 लाख 80 हजार से अधिक ऋण वितरण किया गया है। इन्हीं इकाईयों के माध्यम से 25 लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिला है। उन्होंने बताया कि बैंकों को 20 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांे को ऋण देने का लक्ष्य दिया गया है। यदि हम लोग सफल हो जाते है तो नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयों को ऋण देने में तो उससे लगभग 80 लाख लोगों को रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगें जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से होगा और प्रदेश को 01 ट्रिलियन डाॅलर इकोनाॅमी तक ले जाने में बहुत मदद करेगा।  
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों से मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर निरन्तर धान खरीद की समीक्षा की जा रही है। इस संबंध में सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों के धान की खरीद समय से हो तथा उन्हें धान व मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य अवश्य मिले। धान और मक्का की खरीद का भुगतान 72 घंटे के अन्दर सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि जिलाधिकारी की यह जिम्मेदारी है कि किसानों को किसी प्रकार की समस्या न होे तथा क्रय केन्द्र सुचारू रूप से कार्य करे। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की अधिकारियो/कर्मचारियों द्वारा लापरवाही बरती जाती है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। धान क्रय केन्द्र पर शिकायत मिलने पर जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी। धान क्रय केन्द्रांे पर जिलाधिकारी द्वारा निरन्तर अनुश्रवण तथा आकस्मिक निरीक्षण करे। किसानों से निरन्तर धान की खरीद की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 245.52 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है, जो पिछले वर्ष से डेढ़ गुना से भी अधिक है। लगभग 4600 करोड़ रूपये किसानो ंसे धान क्रय किया गया है। प्रदेश में 102 मक्का क्रय केन्द्र से अब तक किसानों से 2,94,184.70 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। जो गत वर्षों से काफी अधिक है। प्रदेश सरकार द्वारा विशेष अभियान चलाया जा रहा है। प्रदेश में कृषि आधारित और ग्रामीण अर्थव्यवस्था आधारित उद्योग अवस्थापना की स्थापना के विशेष प्रयास किये जा रहे है ताकि स्थानीय स्तर पर भी रोजगार के अधिक से अधिक अवसर पैदा हो और लोगों को स्थानीय स्तर पर ही रोजगार के अवसर मिले।  
प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,69,895 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,97,88,497 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1967 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 22,990 कोरोना के एक्टिव मामले में से 10.846 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 3,15,814 लोग होम आइसोलेशन की सुविधा प्राप्त करते हुए 3,04,908 लोगों ने अपने होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर ली है। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 2124 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त बाकी मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। प्रदेश में रिकवरी का 94.4 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 5,18,390 लोग कोविड-19 से ठीक होकर पूर्ण उपचारित हो चुके हैं।
  श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,68,008 क्षेत्रों में 4,74,494 टीम दिवस के माध्यम से 2,98,55,526 घरों के 14,58,12,930 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि चिकित्सकीय उपचार के लिए ई-संजीवनी पोर्टल शुरू किया गया है। ई-संजीवनी के माध्यम से 3201 लोगों ने चिकित्सकीय परामर्श लिया। अब तक कुल 2,45,051 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल पर चिकित्सकीय परामर्श लिया। उन्होंने बताया कि कोरोना पाॅजिटिव पाये गये लोगों में 0-10 आयु वर्ग के 3.58 प्रतिशत, 11-20 आयु वर्ग के 9.87 प्रतिशत, 21-30 आयु वर्ग के 25.37 प्रतिशत, 31-40 आयु वर्ग के 21.43 प्रतिशत, 41-50 आयु वर्ग के 16.08 प्रतिशत, 51-60 आयु वर्ग के 13.30 प्रतिशत और 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के 10.37 प्रतिशत रहा है।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में आर0टी0पी0सी0आर0 की टेस्टिंग की दर 1600 से घटाकर 700 रू0 कर दिया गया है। अगर घर से सैम्पल लिया जाता है तो 900 रूपये देना होगा। उन्होंने कहा कि बचाव से ही कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बच सकते हैं। उन्होंने कहा कि विशेषकर बच्चे, बुजुर्ग, महिलाएं तथा बीमार व्यक्तियों को संक्रमण से दूर रखकर कोविड-19 की सेकेन्ड वेव से बचाया जा सकता है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा