पद्मभूषण उस्ताद गुलाम मुस्तफा खां साहब नहीं रहे

भारतीय शास्त्रीय गायन के क्षेत्र के दिग्गज गायक गुलाम मुस्तफा खान का निधन हो गया है.वर्ष 1931 में बदायूं में जन्मे गुलाम मुस्तफा खान रामपुर-सहसवान घराने से ताल्लुक रखते हैं. अपनी प्रतिभा से उन्होंने देश-विदेश में यूपी का नाम रोशन किया. गुलाम मुस्तफा को 1991 में पद्मश्री, 2003 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, 2006 में पद्मभूषण और 2018 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया खान साहब लता मंगेशकर, आशा भोसले, गीता दत्त और मन्ना डे जैसे गायक और गायिकाओं के गुरु रहे हैं. इसके साथ ही नयी पीढ़ी के सोनू निगम, हरिहरन और शान भी उनके शिष्य रहे हैं.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या