हत्या का खुलासा -पुलिस का सराहनीय कार्य

अभय त्रिपाठी
सिद्धार्थनगर , थानाक्षेत्र इटवा अन्तर्गत नवनिर्माणाधीन, आई0टी0आई0 कालेज में एक अज्ञात शव जिसकी धारदार हथियार से गला रेत कर हत्या कर दिया गया था । उक्त सूचना पर रामअभिलाष त्रिपाठी पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थनगर द्वारा उक्त घटनास्थल का निरीक्षण किया गया व उक्त घटना के शीघ्र अनावरण हेतु पुलिस की 04 टीमों को लगाया गया । थाना इटवा पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया गया एवं थाना स्थानीय पर वादिनी श्रीमती सोनमती पत्नी अयोध्या प्रसाद गुप्त द्वारा लिखित सूचना के आधार पर मु0अ0सं0 16/2021 धारा 302 भादवि0 का अभियोग बनाम अज्ञात पंजीकृत कर विवेचना शुरू की गई । प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश श्रीवास्तव, थाना इटवा, प्रभारी निरीक्षक तहसीलदार सिंह, थाना ढेबरूआ व उ0नि0 पंकज कुमार पाण्डेय, प्रभारी एस0ओ0जी0 व सर्विलांस सेल मय टीम उक्त मुकदमें में अज्ञात अभियुक्तगण की तलाश पतारसी सुरागरसी हेतु क्षेत्र में मामूर थे और अल्फारूख इण्टर कालेज अमौना इटवा के गेट के सामने पहुँचे कि जरिये मुखबिर खास सूचना मिली कि मु0अ0सं0 16/021 धारा 302 भा.द.वि से सम्बधित अभियुक्तगण सेमरी चौराहा पर स्थित पूर्वांचल ग्रामीण बैंक के सामने खड़े होकर नेपाल भागने फिराक में है और वाहन का इंतजार कर रहे है यदि जल्दी किया जाय तो पकड़े जा सकते है ।
इस सूचना पर विश्वास कर पुलिस ने संयुक्त पुलिस टीम के साथ मय मुखबीर खास के सेमरी के तरफ आया, सेमरी स्थित पूर्वांचल ग्रामीण बैंक से थोड़ी दूर पहले ही मुखबिर ने इशारा करके बताया कि साहब वे जो तीनो लड़के पूर्वांचल ग्रामीण बैंक के सामने खड़े है वही लोग है । मुखबिर द्वारा बताये गये तीनो लड़को के पास पहुँचे तो पुलिस वालों को देखकर तीनों लड़के सकपका गये तथा पीछे मुड़कर भागने का प्रयास किये कि पुलिस बल अधिक होने के कारण उक्त तीनों लड़को को घेरघार कर पुर्वांचल ग्रामीण बैंक के सामने ही समय पकड़ लिये। भागने का कारण पूछा गया तो तीनो लड़को ने बताया कि साहब हम लोगो से बहुत बड़ी गलती हो गई है अभी 2-3 दिने पहले निर्माणाधीन ITI कालेज इटवा में विकास गुप्ता की हत्या हुई थी, वह हम ही लोगों द्वारा नासमझी में किया गया था । हम लोग काफी सहमे हुए है इसलिए पुलिस की गाड़ी को देखकर भागने लगे तथा अपनी गलती की तीनों बार – बार माफी माँगने लगे तथा कहने लगे कि हम लोगों से बहुत बडी गलती हो गई है । मुकदमा उपरोक्त से सम्बधित होने के कारण नाम पता-पूछा गया तो एक ने अपना नाम पिन्टू पाल पुत्र राम हरख साकिन पंचमोहनी थाना ढेबरूआ जनपद सिद्धार्थनगर, दूसरे ने पंकज गौतम पुत्र बलिराम साकिन पंचमोहनी थाना ढेबरूआ जनपद सिद्धार्थनगर तथा तीसरे ने अपना नाम अतुल दुबे उर्फ विपिन दुबे पुत्र अजय कुमार दुबे साकिन गनवरिया पूरब थाना इटवा जनपद सिद्धार्थनगर बताया । अभियुक्तगण की नियमानुसार जामा तलाशी ली गई तो अभियुक्त पिन्टू पाल उपरोक्त के पहने हुए जींस के पैन्ट के दाहिने जेब से कुल 150 रूपया बरामद हुआ, अभियुक्त पंकज गौतम उपरोक्त के पहने हुए लोवर के बायें जेब से कुल 80 रूपया तथा अभियुक्त अतुल दुबे उर्फ विपिन दुबे के पहने हुए जींस के पेन्ट के पीछे जेब से कुल 120 रूपया बरामद हुआ । मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित अभियुक्त होने के कारण, कारण गिरफ्तारी बताते हुए हिरासत पुलिस में लिया गया । हत्या का कारण – पुलिस टीम द्वारा हत्या करने का कारण पूछने पर ज्ञात हुआ कि हत्या प्रेम-प्रसंग की बात को लेकर तथा ब्लैकमेल करने के सम्बन्ध में घटना कारित की गई । अपराध करने का तरीका – अभियुक्तगण से हत्या के सम्बन्ध में पूछताछ करने पर ज्ञात हुआ कि पिन्टू पाल द्वारा मृतक को शराब पीने की बात को लेकर घर से बहला-फुसला कर शारदा बुक डिपो इटवा पर भेजा गया जहां पर पहले से ही अतुल दुबे प्रतीक्षा कर रहा था बाद में पंकज गौतम व पिन्टू पाल मोटरसाइकिल से आए, चारों एक साथ एक ही बाइक पर बैठकर गए बीच में इनके द्वारा अंग्रेजी शराब व बीयर लिया गया पुनः आई0टी0आई0 कालेज के छत पर चले गए । सभी लोग एक साथ शराब पीए बाद में अतुल दुबे व पंकज गौतम द्वारा द्वारा मृतक का हाथ-पैर दबा दिया गया तथा पिन्टू पाल द्वारा ब्लेड से गर्दन को काट दिया गया । नाम पता अभियुक्तगण 1- पिन्टू पाल पुत्र राम हरख साकिन पंचमोहनी थाना ढेबरूआ जनपद सिद्धार्थनगर । 2- अतुल दुबे उर्फ विपिन दुबे पुत्र अजय कुमार दुबे साकिन गनवरिया पूरब थाना इटवा जनपद सिद्धार्थनगर । 3- पंकज गौतम पुत्र बलिराम साकिन पंचमोहनी थाना ढेबरूआ जनपद सिद्धार्थनगर । विवरण बरामदगी 1- नकद रु0 350/- 2- मोबाइल एक अदद MI (मृतक का ) 3- घटना में प्रयुक्त ग्लब्स रक्तरंजित । 4- घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल एक अदद । 5- अभियुक्त का रक्तरंजित पैन्ट-शर्ट व जैकेट । 6- घटना में प्रयुक्त रक्तरंजित ब्लेड एक अदद । 7- मोबाइल 03 अदद भिन्न-भिन्न कम्पनी । गिरफ्तार करने पुलिस टीम का विवरणः- 1- प्रभारी निरीक्षक वेद प्रकाश श्रीवास्तव थाना इटवा जनपद सिद्धार्थनगर । 2- प्रभारी निरीक्षक तहसीलदार सिंह थाना ढेबरूआ जनपद सिद्धार्थनगर । 3- उ0नि0 पंकज कुमार पाण्डेय प्रभारी एस0ओ0जी0 टीम जनपद सिद्धार्थनगर । 4- वरि0 उ0नि0 रामेश्वर यादव थाना इटवा जनपद सिद्धार्थनगर । 5- मु0आ0 आनन्द प्रकाश यादव एस0ओ0जी0 टीम जनपद सिद्धार्थनगर । 6- मु0आ0 राजीव शुक्ला एस0ओ0जी0 टीम जनपद सिद्धार्थनगर । 7- आ0 दिलीप कुमार द्विवेदी, आ0 विवेक मिश्रा सर्विलांस सेल जनपद सिद्धार्थनगर । 8- आ0 वीरेन्द्र त्रिपाठी, आ0 अखिलेश यादव, आ0 अवनीश सिंह, आ0 मृत्युजय कुशवाहा, आ0 पवन तिवारी एस0ओ0जी0 टीम जनपद सिद्धार्थनगर । सहयोगी टीम प्रभारी निरीक्षक त्रिलोकपुर,मिश्रौलिया व गोल्हौरा मय टीम । उपरोक्त सराहनीय कार्य करने वाली पुलिस टीम को रु0 नकद 20,000/- पुरस्कार दिया गया ।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या