K CC Kisan Credit Card: क्या है किसान क्रेडिट कार्ड योजना, जानिए इसके फायदे और कैसे कर सकते हैं आवेदन

कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए और किसानों के कल्याण के लिए केंद्र सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत किसान इस कार्ड के जरिए बैंक से लोन ले सकते हैं। उन्हें बेहद कम ब्याज पर लोन दिया जाता है साथ ही उन्हें लोन चुकाने के लिए समय सीमा इन सब की अधिक बाध्यता नहीं होती है। पिछले साल जून में इस योजना की शुरुआत करने के बाद सरकार ने 100 दिनों के भीतर 1 करोड़ किसानों को इस योजना का लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा था। इस योजना के तहत किसानों को कम ब्याज पर लोन दिया जाता है ताकि वे अनावश्यक कर्ज के जाल में ना फंस सकें औऱ सुविधाजनक रुप से अपना काम सुचारु रुप से जारी रख सकें। पहले के समय में किसानों को प्राइवेट सेक्टर से लोन दिए जाते थे जिस पर उन्हें भारी भरकम ब्याज भरना पड़ता था जिसके कारण वे कर्ज के बोझ तले दब जाते थे। इसी समस्या को खत्म करने के लिए सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना (केसीसी) की शुरुआत की। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2020-21 के मद्देनजर इस योजना के लिए 15 लाख करोड़ के आवंटन की घोषणा की है। नेशनल बैंक ऑफ एग्रीकल्चर एंड रुरल डेवलपमेंट ने इसके बारे में सरकार को परामर्श दिया था जिसके बाद इस योजना को धरातल पर लाया गया। किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए कमर्शियल बैंक, को-ऑपरेटिव बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के जरिए भी किसानों को लोन दिए जाते हैं। इसे प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड योजना भी कहा जाता है। जानते हैं इस योजना के फायदे और किसान क्रेडिट कार्ड लोन के लिए कैसे अप्लाई कर सकते हैं इसके बारे में। किसान क्रेडिट कार्ड के फायदे लोन चुकाने में सुविधा दी गई है। जब किसानों का फसल तैयार हो जाए तब ही जाकर वे इपना लोन चुका सकते हैं पहले लोन चुकाने की कोई बाध्यता नहीं है। लोन लेने में कोई तरह की जटिल प्रक्रिया नहीं है। इस योजना के जरिए उन्हें आसान प्रक्रिया का पालन कर लोन मिल जाता है। किसानों के आय के आधार पर उन्हें ज्यादा से ज्यादा लिमिट तक लोन दिया जाता है। अन्य लोन पर लगाए जा रहे ब्याज दर की तुलना में किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लिए गए लोन पर बेहद कम ब्याज लगता है। हर तरह के कृषि की जरूरतों के लिए एक ही लोन की सुविधा। फसल बीमा की भी सुविधा इस योजना के तहत दी जाती है। चुनिंदा ट्रांजैक्शन पर डीलर्स क तरफ से छूट भी दी जाती है। कौन ले सकता है लाभ- कोई एक किसान या फिर दो किसान मिलकर भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं जो मिलकर कृषि करते हैं। स्वयं सहायता समूह जिसमें किसान, बंधुआ किसान हों वे भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा मत्स्य पालन करने वाले और एनीमल हसबैंडरी सेक्टर के लोग भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं। अगर आप मछली पालन कर रहे हैं, बकरी, भेड़ या फिर मुर्गी पालन कर रहे हैं तो भी आप किसान क्रेडिट योजना का लाभ ले सकते हैं। कैसे करें अप्लाई- बैंक की वेबसाइट पर जाएं मौजूद क्रेडिट कार्ड की लिस्ट पर जाएं वहां पर लिस्ट में आपको किसान क्रेडिट कार्ड दिखेगा उसे सेलेक्ट करें। उस पर क्लिक करने के बाद मौजूद फॉर्म पर अपनी डिटेल्स भरें और एप्लीकेशन सबमिट करें। रेफरेंस नंबर नोट करने के बाद बैंक की तरफ से प्रोसेस आगे बढ़ाने के लिए कॉल का इंतजार करें। बैंक की तरफ से कॉल आने पर जरूरी कागजात जमा करें और अपना किसान क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर लें। जरूरी दस्तावेज आधार पैन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस, या वोटर आईडी इन पहचान पत्र के अलावा अन्य कोई अड्रेस प्रूफ सभी जमीन के दस्तावेज दो पासपोर्ट साइज फोटो बैंक के द्वारा मौके पर बताए गए अन्य कागजात जागरूकता के लिए शेयर अवश्य करें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या