डा0हर्ष वर्धन जी द्वारा आईसीएमआर-राष्ट्रीय कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टीरियल रोग संस्थान,आगरा के नए अनुसंधान भवन ‘’ देसिकन भवन’’ का उदघाटन

----------------------------------------------------------------------------- आगरा दिनांक 06-03-2021,केन्द्रीय स्वास्थय एवं परिवार कल्याण मंत्री डा0हर्ष वर्धन जी द्वारा आईसीएमआर-राष्ट्रीय कुष्ठ एवं अन्य माइकोबैक्टीरियल रोग संस्थान,आगरा के नए अनुसंधान भवन ‘’ देसिकन भवन’’ का उदघाटन महानिदेशक,भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) व सचिव,स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग प्रोफेसर बलराम भार्गव की गरिमामयी उपस्थिति में किया।यह नया अनुसंधान भवन कोविड-19 की जांच लौबोरेट्री सुविधा से युक्त है। इस नए अनुसंधान भवन में कोविड-19 की जांच के साथ –साथ अन्य अनुसंधान सुविधायें जैसे कि पशु लैबोरेट्री,माइकोबैक्टीरियम स्पीसिज की होल जिनोम सिक्वेन्सिंग एवं औषधिय पौधों से फाइटो कैमिकल एक्स्ट्रैक्शन कर एन्टी माइकोबैक्टीरियम ड्रग का विकास करना इत्यादि बी उपलब्ध हैं।इस नए कोविड-19 जांच लैबोरेट्री की क्षमता लगभग 1200 सैम्पल प्रतिदिन है।यह कोविड-19 जांच लैबोरेट्री बायोसेफ्टी लेवल-II(बीएसएल-II) केबिनेट,स्वचालित आरएनए एक्सट्रेक्टर एवम रियल टाइम पीसीआर मशीनों की सुविधा से युक्त है जो कोविड जांच के परिणाम को एक दिन के अंदर उपलब्ध कराता है। मंत्री ने महानिदेशक,आईसीएमआर की सराहना कोविड-19 महामारी के समय उनके द्वारा किये गये कार्यों के लिए किया।जो इस महामारी को रोकने,भविष्य में उभरते संक्रामक बिमारियों के प्रबंधन में सहायक है और आईसीएमआर द्वारा क्षय रोग की जांचो एव उपचार सम्बधित किये गये प्रयासों के लिए भी किया ।जो कि 2025 तक देश से टीबी खात्मे के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के लक्ष्य को प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। महानिदेशक प्रोफेसर बलराम भार्गव ने आईसीएमआर-राष्ट्रीय जालमा कुष्ठ एवं अन्य माइको बैक्टीरियल रोग संस्थान द्वारा माइकोबैक्टीरिल अनुसंधान के क्षेत्र में किये गये महत्वपूर्ण कार्यों की सराहना की ।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या