वर्ष 2020-21 में जनपद बांदा में 26941 श्रमिकों का पंजीकरण हुआ -श्रम मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य

लखनऊ, दिनांकः 24 मार्च, 2021 प्रदेश के श्रम एवं सेवायोजन व समन्वय मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मजदूरों केे बच्चों को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के सभी मण्डल मुख्यालयों पर अटल आवासीय विद्यालय खोले जा रहे हैं, इन विद्यालयों में मजदूरों के बच्चों को नवोदय विद्यालयों के समान सुविधायें प्रदान करते हुए गुणवत्तापरक शिक्षा प्रदान की जायेगी। मजदूरों को अब अपने बच्चों की शिक्षा के लिए चिन्तित नहीं होना होगा, मजदूरी चाहे वे जहां करें। श्रम एवं सेवायोजन मंत्री श्री मौर्य ने आज मण्डल मुख्यालय जनपद बांदा में श्रम विभाग द्वारा राजकीय इण्टर काॅलेज के प्रांगण में आयोजित मण्डलीय पंजीयन शिविर, हितलाभ वितरण एवं जागरूकता कार्यक्र्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं केे अन्तर्गत 3660 लाभार्थियों को 12 करोड़, 65 लाख, 83 हजार रू0 की धनराशि श्रमिकों को प्रदान की और उन्हें हितलाभ सम्बन्धी प्रमाण पत्र वितरित किये। श्री मौर्य ने मातृत्व शिशु एवं बालिका मदद योजना के अन्तर्गत 2555 लाभार्थियों को 11 करोड़ 4 लाख 42 हजार रूपये, निर्माण कामगार मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना व निर्माण कामगार अन्त्येष्टि सहायता योजना के अन्तर्गत 18 लाभार्थियों को 36 लाख 60 हजार रू0, कन्या विवाह सहायता योजना के अन्तर्गत 166 लाभार्थियों को 91 लाख 30 हजार रू0, चिकित्सा सुविधा योजना के अन्तर्गत 819 लाभार्थियों को 27 लाख 25 हजार, संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अन्तर्गत 100 लाभार्थियों को 6 लाख 21 हजार रू0 की साइकिल सहायता/छात्रवृत्ति तथा 2 मेधवी छात्रों को 4 हजार रूपये की सहायता प्रदान की।
श्रम मंत्री श्री मौर्य ने कहा कि हमारे देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री मोदी जी तथा मुख्यमंत्री योगी जी का यह संकल्प है कि सबका साथ और सबका विकास हो। इसी संकल्प को मूर्त रूप प्रदान करने के लिए श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए विभिन्न योजनायें संचालित की जा रही हैं। उन्होंने श्रमिकों से अपील की कि वे श्रम विभाग द्वारा अपना पंजीयन अवश्य करायें क्योंकि पंजीयन के उपरान्त ही उन्हें श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकता है। श्री मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकोें के पंजीयन की निःशुल्क व्यवस्था की गयी है। आप श्रम विभाग द्वारा लगाये गये कैम्पों तथा काॅमन सर्विस सेन्टर के माध्यम से अपना पंजीयन करा सकते हैं। श्रम मंत्री श्री मौर्य ने मजदूरों से अपील की कि वे अपने बच्चों को शिक्षा अवश्य दिलायें जिससे वे प्रशासनिक अधिकारी, डाॅक्टर व इंजीनियर बन सकें। उन्होंने श्रमिकों के कल्याणार्थ सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा मजदूर की बेटी के विवाह पर 55 हजार रूपये तथा सामूहिक कार्यक्रम में शादी कराने पर 75 हजार रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। श्री मौर्य ने कहा कि प्र्रदेश सरकार के 4 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में राजधानी लखनऊ में 3507 मजदूरों की बेटियों की शादी करायी गयी तथा यह दुनिया का सबसे बडा सामूहिक विवाह समारोह कार्यक्रम था। उन्होंने कहा कि इन सामूहिक विवाह समारोह में मजदूरों की बेटियों को मुख्यमंत्री जी तथा सांसद व विधायक अर्शीवाद प्रदान करते हैं। श्रम मंत्री ने कहा कि मजदूर भयंकर गर्मी व सर्दी में कार्य कर राष्ट्र का निर्माण करते हैं, इसलिए वह भाग्य विधाता हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकों के बच्चों को संत रविदास शिक्षा सहायता योजना के अन्तर्गत छात्रवृत्ति प्रदान करती है। श्री मौर्य ने कहा कि मजदूर के बच्चों के इंजीनियरिंग व मेडिकल में प्रवेश लेने पर प्रदेश सरकार द्वारा पूरी फीस प्रदान की जाती है तथा इंजीनियरिंग की पढाई करने वाले छात्र को 5 हजार रूपये तथा मेडिकल की पढाई करने वाले छात्र को 10 हजार रूपये प्रतिमाह की छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। श्री मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिक की दुर्घटना में मृत्यु होने पर 5 लाख रूपये तथा आंशिक अपंगता होने पर 2 लाख रूपये की सहायता प्रदान की जाती है। इसके साथ ही गम्भीर बीमारियों से ग्रसित होने पर मजदूरों के इलाज पर व्यय होने वाली धनराशि भी सरकार द्वारा प्रदान की जाती है। उन्होंने कहा कि 60 वर्ष के ऊपर के श्रमिकों को श्रम विभाग द्वारा पेंशन की सुविधा भी प्रदान की जाती है। श्री मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार पं0 दीनदयाल उपाध्याय तथा बाबा साहब डाॅ0 भीमराव आम्बेडकर के सपने को पूरा करने के लिए समाज के अन्तिम पायदान पर खडे व्यक्तियों के विकास के लिए प्रभावी प्रयास कर रही है। उन्होंने श्रम हितलाभ सहायता वितरण कार्यक्रम के पूर्व सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी-‘‘दशकों में जो हो न पाया, चार वर्ष में कर दिखाया’’ का फीता काटकर उद्घाटन किया। श्री मौर्य ने कहा कि सूचना विभाग की प्रदर्शनी में सरकार द्वारा विगत चार वर्ष में प्राप्त की गयी उपलब्धियों का सचित्र वर्णन किया गया है तथा इसमें विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गयी है, इसलिए यह प्रदर्शनी बहुत ही उपयोगी है। उन्होंने श्रम विभाग द्वारा लगाये गये मण्डलय पंजीयन शिविर का भी उद्घाटन किया। श्री मौर्य ने सब मिशन आॅन एग्रीकल्चर मेकेनाइजेशन योजना के अन्तर्गत 4 लाभार्थियों को टैªक्टर तथा एक लाभार्थी को मिनी राइस मिल प्रदान की। विधायक बबेरू श्री चन्द्रपाल कुशवाहा ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण के लिए कई योजनायें चलायी जा रही हैं, जिससे श्रमिक परिवार आगे बढ सकें। विधायक नरैनी श्री राजकरन कबीर ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि श्रम विभाग द्वारा श्रमिकों में जागरूकता लाने के लिए यह बहुत ही सराहनीय कार्यक्रम किया गया है। उन्होंने श्रमिकों से अपेक्षा की कि वे अपना पंजीयन कर योजनाओं का लाभ प्राप्त करें। विधायक तिन्दवारी श्री बृजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि मुख्यमंत्री जी तथा मंत्री जी के आर्शीवाद से श्रमिकों को योजनाओं का लाभ प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि श्रमिक इन योजनाओं की जानकारी अपने अन्य साथियों को भी दें जिससे वे भी लाभ प्राप्त कर सकें। जिलाधिकारी श्री आनन्द कुमार सिंह ने मंत्री जी का स्वागत करते हुए कहा कि वर्ष 2020-21 में जनपद बांदा में 26941 श्रमिकों का पंजीकरण हुआ है। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग की योजनाओं का श्रमिकों को अधिक से अधिक लाभ प्रदान करने के लिए विकास खण्ड स्तर पर शिविर भी आयोजित कराये गये हैं। उपाध्यक्ष बुन्देलखण्ड विकास बोर्ड श्री अयोध्या सिंह पटेल, जिलाध्यक्ष श्री रामकेश निषाद, पूर्व जिलाध्यक्ष श्री लवलेश सिंह, महिला मोर्चा की अध्यक्ष वन्दना गुप्ता ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम के अन्त में मुख्य विकास अधिकारी श्री हरिश्चन्द्र वर्मा ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर आजाद हिन्द फौज की छात्र/छात्राओं ने तथा रमेश पाल की टीम ने दीवरी नृत्य का कार्यक्रम प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में कार्यकर्ताओं तथा श्रम विभाग के अधिकारियों ने मंत्री जी माल्यार्पण कर स्वागत किया। इस अवसर पर उप श्रम आयुक्त राजीव कुमार सिंह, उप निदेशक सूचना भूपेन्द्र सिंह यादव, उपायुक्त एन0आर0एल0एम0 के0के0पाण्डेय, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी संजीव कुमार बघेल, उप निदेशक कृषि प्रसार राम कुमार माथुर, पूर्व अध्यक्ष श्री बालमुकुन्द शुक्ला, ब्लाक प्रमुख बडोखर खुर्द लालू भइया तथा विभिन्न जनप्रतिनिधि, श्रम विभाग के अधिकारी तथा बडी संख्या में श्रमिक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा