उन्नाव ज़िले के एडिशनल जज मारपीट एफ़आइआर तक दर्ज नहीं

उन्नाव ज़िले के एक एडिशनल जज ने जब भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के एक करीबी की ज़मानत रद्द कर दी तो उनके साथ मारपीट की गई और गाली गलौज की गई। पुलिस ने उनकी एफ़आइआर तक दर्ज नहीं की।जज साहब ने कल की घटना पर एफ.आई.आर. के लिए प्रार्थना पत्र दिया था, एफ.आई.आर. तो नहीं हुई उल्टा आज की घटना हो गई, जिस पर जज साहब ने दोबारा, दूसरी घटना पर एफ.आई.आर. के लिए प्रार्थना पत्र दिया था, लेकिन अभी तक दोनों घटनाओं पर एफ.आई.आर. दर्ज नहीं हो सकी है.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या