उन्नाव ज़िले के एडिशनल जज मारपीट एफ़आइआर तक दर्ज नहीं

उन्नाव ज़िले के एक एडिशनल जज ने जब भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के एक करीबी की ज़मानत रद्द कर दी तो उनके साथ मारपीट की गई और गाली गलौज की गई। पुलिस ने उनकी एफ़आइआर तक दर्ज नहीं की।जज साहब ने कल की घटना पर एफ.आई.आर. के लिए प्रार्थना पत्र दिया था, एफ.आई.आर. तो नहीं हुई उल्टा आज की घटना हो गई, जिस पर जज साहब ने दोबारा, दूसरी घटना पर एफ.आई.आर. के लिए प्रार्थना पत्र दिया था, लेकिन अभी तक दोनों घटनाओं पर एफ.आई.आर. दर्ज नहीं हो सकी है.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

मंगलमय हो मिलन तुम्हारा

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?