बंगाल और यूपी हारने के बाद भाजपा नहीं लागू कर पाएगी नए कृषि कानून:अखिलेश

राजनीति और व्यापार का ऐसा तालमेल आजादी के बाद अब तक नहीं देखा गया
लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को मेरठ के मवाना में क्रांतिकारी शहीद कोतवाल धन सिंह गुर्जर की प्रतिमा के अनावरण के अवसर पर आयोजित एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बंगाल और यूपी में हारने के बाद भाजपा किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों नहीं लागू कर पाएगी। भाजपा पर देश में कम्पनी शासन थोपने का आरोप लगाते हुए यादव ने कहा कि बीजेपी गांव और किसानों के साथ भेदभाव कर रही है। भाजपा के लोग किसानों क ो आतंकवादी, देशद्रोही और चीन-पाकिस्तान का समर्थक कहकर अपमानित कर रहे हैं। सपा अध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी सरकार के फैसलों से देश का बहुत नुकसान हुआ। नोटबंदी, जीएसटी, अनियोजित लॉकडाउन सभी फै सले गलत साबित हुए। इसी तरह से तीन कृषि कानूनों से किसान बर्बाद हो जाएगा। किसानों की जमींन छिन जाएगी। सपा अध्यक्ष ने कहा कि किसान आंदोलन को बदनाम करने वाले राष्टï्रविरोधी और असामाजिक है। किसान लोगों का पेट भरता है। वह जानता है कि क्या उसे पक्ष में है और क्या खिलाफ। आंदोलन की वजह से सरकार को पीछे हटना पड़ा है। देश की आजादी के बाद राजनीति और व्यापार का ऐसा तालमेल कभी नहीं देखा गया था। डीजल और पेट्रोल की महंगाई लगातार बढ़ रही है। किसानों की फसल सस्ती है। उद्योगपतियों को मुनाफा हो रहा है और किसान को नुकसान। अर्थव्यवस्था लगातार नीचे जा रही है। बैंक डूब रहीं हैं। किसान रो रहा है। आत्महत्या करने पर मजबूर है। यादव ने कहा कि अगर बैंक डूब जाएगी, खेती बर्बाद हो जाए, नौजवानों को नौकरी रोजगार न मिले, तो देश कैसे आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि शहीदों की कुर्बानी से देश आजाद हुआ। लेकिन भाजपा ने जो हालात बना दिए हैं, अगर ऐसे ही रहा तो देश एक बार फिर गुलामी की ओर चला जाएगा। व्यापार करने आयी एक ईस्ट इंडिया कंपनी ब्रिटेन में पारित हुए एक कानून से कारोबारी से सरकार बन गयी। उसने देश को आर्थिक, सामाजिक और राजनैतिक रूप से बहुत नुकसान पहुंचाया। अपने फायदे के लिए समाज को तोड़ दिया था। देश को आर्थिक रूप से कमजोर कर दिया। भाजपा आज उसी राह पर है। केन्द्र सरकार कम्पनी की तरह काम कर रही है। सब कुछ बेचने पर अमादा है। देश के सारे साधन संसाधन निजी हाथों में सौंप रही है। यादव ने कहा कि जनता समाजवादियों का इंतजार कर रही है। सपा सरकार ने विकास के लिए ऐतिहासिक काम किए। केन्द्र और प्रदेश में सरकार होने के बावजूद भाजपा वैसा काम नहीं कर पायी। मुख्यमंत्री केवल शिलान्याय का शिलान्यास और नाम बदलने का काम कर रहे हैं। देश को सभी जाति-धर्म के लोगों ने कुर्बानी देकर आजादी दिलायी। सब मिलकर लड़े थे, लेकिन भाजपा देश को नफरत की राजनीति की तरफ ले जा रही है। बंगाल के चुनाव में भाजपा हर तरह के हथकंडे अपना रही है। यूपी के लोगों क ो अभी से सावधान रहना होगा। जनसभा को पूर्वमंत्री स्वामी ओमवेश, अतुल प्रधान समेत अन्य नेताओं ने संबोधित किया। अखिलेश ने शहीद कोतवाल धन ङ्क्षसंह की प्रतिमा का अनावरण और भगत सिंह और डा. लोहिया को दी श्रद्घांजलि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने क्रांतिकारी शहीद कोतवाल धन ङ्क्षसंह गुर्जर की प्रतिमा का अनावरण करने के साथ शहीद भगत सिंह और डा. राम मनोहर लोहिया को श्रद्घांजलि अर्पित करते हुए कहा कि देश की आजादी के लिए लाखों लोगों ने कुर्बानी दी। कोतवाल धन सिंह गुर्जर ने 1857 की क्रांति शुरु की। उन्होंने आजादी की लड़ाई को धार दी। अगर वे सफल हो गए होते तो बहुत पहले आजाद हो गया होता। इसी तरह से सरकार भगत ङ्क्षसह ने देश में आजादी की नई तरह की क्रांति पैदा की। उससे देश का नौजवान जाग गया था। वे अन्याय के खिलाफ जेल में भी लड़े। उनका योगदान देश के इतिहास में अमर है। डा. राम मनोहर लोहिया ने आजादी की लड़ाई में संघर्र्ष किया। उसके बाद समाजवादी विचारधारा दिया, जिसे समाजवादी पार्टी आगे बढ़ा रही है। समाजादी विचारधाना सभी जाति-धर्म के लोगों को बिना किसी भेदभाव के आगे बढ़ाने का काम कर करती है। आंदोलन के लिए किसानों को दी बधाई
किसान आंदोलन के लिए किसानों को बधाई देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि पंजाब और हरियाणा के किसानों ने पूरा देश जगाने का काम किया। आज देश का किसान जाग गया है। अब सरकार भी मानने लगी है कि कानून गलत है। उन्होंने कहा कि किसानों को फसलों की एमएसपी नहीं मिल रही है। पश्चिमी यूपी में गन्ना किसानों का पैसा नहीं मिल रहा है। भाजपा ने गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाया। अब जश्न मना रही है। भाजपा झूठे वादे करती है। जनता महंगाई, बेरोजगारी से परेशान है। भाजपा ने अपने कान और आंख बंद कर लिए हैं। उसे जनता की तकलीफ नहीं सुनायी दे रही है

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या