आज निकलेगा चर्चित लाट साहब का "जूतामार" जुलूस

शाहजहांपुर। देश की चर्चित अनोखी परंपराओं में शुमार होली के दिन "लाट साहब" के "जूतामार" दो जुलूसं 29 मार्च को फिर निकलेंगे। मुख्य लाट साहब जुलूस क़रीब आठ किमी लंबा होता है, जिसे तय करने में तीन घंटे से ज़्यादा समय लगता है। इसी के बाद दूसरा छोटा लाट साहब जुलूस भी उसी दिन निकलेगा। किसी तरह का कोई विवाद न होने पाए, इसलिए प्रशासन ने जुलूस के रास्ते में पड़ने वाली दर्जन भर से ज्यादा मस्जिदों और मज़ारों को तिरपाल से ढक दिया जाता है। लाट साहब की जुलूस की यह परंपरा और मस्जिदों को ढकने काम पिछले कई सालों से होता आ रहा है। जुलूस में एक व्यक्ति को लाट साहब के रूप में भैंसा गाड़ी पर बैठाया जाता है और फिर उसे जूते और झाड़ू मारते हुए पूरे शहर में घुमाया जाता है। इस दौरान शहर के आम लोग भी लाट साहब को जूते फेंक कर मारते हैं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या