भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) के राज्य सचिव मण्डल सदस्य, पूर्व प्रदेश सचिव और केन्द्रीय कमेटी के सदस्य का0 एस0पी0 कश्यप का निधन

लखनऊ 24 अप्रैल। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) उत्तर प्रदेश राज्य सचिव मण्डल ने दिनांक 24 अप्रैल 2021 शनिवार को निम्नलिखित प्रेस बयान जारी किया ः- भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) के राज्य सचिव मण्डल सदस्य, पूर्व प्रदेश सचिव और केन्द्रीय कमेटी के सदस्य का0 एस0पी0 कश्यप का निधन 23.04.2021 को आगरा के एक निजी अस्पताल ‘चहार’ में हो गया। 77 वर्षीय का0 एस0पी0 कश्यप को कोविड-19 का संक्रमण था। वे 1977 में पार्टी में आये और लगभग 44 वर्षों तक पार्टी द्वारा दी गयी महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का उन्होंने निष्ठपूर्वक निर्वहन किया। वे 1981 में राज्य कमेटी में लिये गये और लंबे समय तक उत्तर प्रदेश राज्य कमेटी सदस्य और राज्य सचिव मण्डल के सदस्य रहे। 2004 में इलाहाबाद राज्य सम्मेलन में राज्य कमेटी के सचिव निर्वाचित हुए और 2015 तक इस जिम्मेदारी का निर्वहन किया। वे पार्टी केन्द्रीय कमेटी सदस्य भी चुने गये। पार्टी के अंदर वे एक कुशल माक्र्सवादी शिक्षक के रूप में प्रतिष्ठित थे। न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि अन्य प्रदेशों में भी उन्होंने पार्टी शिक्षा देने का काम किया। माक्र्सवादी विचारधारा और राजनीति के विकास में उनका महती योगदान रहा। वे पक्के माक्र्सवादी और एक कुशल संगठक थे। पार्टी संगठन, विचारधारा और राजनीति की उनकी समझदारी बड़ी स्पष्ट रहती थी। वे आजीवन अविवाहित थे और कालेज के प्राचार्य पद को छोड़कर पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता बने थे। उनकी शिक्षा एम0ए0, पीएचडी थी। लगभग दो सप्ताह पूर्व वे लखनऊ से आगरा चले गये थे जहां जांच में कोरोना वायरस पाजिटिव पाये जाने के बाद एक निजी अस्पताल ‘चहार’ में भर्ती हुए। जहां 23 अप्रैल को सायंकाल उनका निधन हो गया। उनके निधन से भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) और प्रदेश मंे वामपंथी आंदोलन की अपूरणीय क्षति हुई है। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) राजय सचिव मण्डल ने उनके निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है। उनके भाई-बहनों व अन्य परिवार जनों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त करता है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि