विश्वविद्यालय विद्यार्थियों की टोली बनाकर ग्रामीणों को टीकाकरण हेतु जाग्रत करे- श्रीमती आनंदीबेन पटेल

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
लखनऊः 09 अप्रैल, 2021 उत्तर प्र्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन से आनलाइन प्रदेश के समस्त विश्वविद्यालय के कुलपतियों तथा कुलसचिवों से 11 से 14 अप्रैल 2021 तक उत्सव के रूप में होने वाले कोरोना टीकाकरण अभियान सफल बनाने के संबंध में विचार-विमर्श किया। इस अवसर पर उन्होंने निर्देश दिये कि टीकाकरण के इस महा अभियान को सफल बनाने हेतु प्रत्येक विश्वविद्यालय एक कार्य योजना बनाकर कार्य करें तथा इस कार्य में विश्वविद्यालय के छात्रों, जनप्रतिनिधियों स्वयं सेवी संस्थाओं को जोड़कर जन सामान्य को प्रेरित करें। राज्यपाल ने कहा कि सभी विश्वविद्यालय अपने 45 वर्ष से अधिक आयु के समस्त स्टाफ तथा सभी छात्र अपने अभिभावकों को अवश्य ही कोरोना का टीका लगवायें। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के इस महाअभियान में अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराया जाना है। अतः कुलपति व रजिस्ट्रार इस कार्य को पूरी गम्भीरता से लें तथा प्रतिदिन विश्वविद्यालय द्वारा कराये गये टीकाकरण की रिपोर्ट राजभवन को भेजें।
राज्यपाल ने प्रथम दौर के कोविड की चर्चा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश ने बहुत ही अच्छे तरीके से कोविड पर नियंत्रण किया था। लेकिन बाद में सभी ने एहतियाती उपाय कम कर दिये, जिसका गंभीर परिणाम आज हमारे सामने है। अतः सभी को कोरोनो से बचाव के उपाय मास्क, सामाजिक दूरी, सेनेटाइजेशन आदि का उपयोग करने के लिए अवश्य प्रेरित करें। यह कार्य हमारे विद्यार्थी बहुत ही अच्छे ढंग से कर सकते हैं। अतः विद्यार्थियों को टोली बनाकर उन्हें इस अभियान में शामिल करें। आज बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं। अतः लोगों को जीवन बचाने के लिए जरूरी है कि टीकाकरण कराया जाये, जिससे कोरोना के दुष्प्रभाव से बचाव हो सके। श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि प्रदेश के बड़े शहरों में एक से अधिक विश्वविद्यालय हैं, अतः वे आपस में समन्वय स्थापित कर कार्य करें, ताकि हर घर तक पहुंच बन सके साथ ही कोरोना से बचाव के संबंध में जागरूकता ग्रामीण क्षेत्रों में भी की जा सके। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय तथा उनसे संबंध महाविद्यालय टीकाकरण केन्द्रों के संबंध में लोगों को बताएं ताकि लोग टीकाकरण केन्द्रों पर आसानी से पहुंच सकें। यह कार्य महाविद्यालय अपने छात्रों को भी कहकर टोली बनाकर आसानी से बना सके। बैठक में राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव श्री महेश कुमार गुप्ता सहित प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं कुलसचिव आॅनलाइन जुड़े हुए थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या