मिल कर बनाएं गौरैया-मित्र समाज : डॉ. जितेंद्र शुक्ला

ऑनलाइन संगोष्ठी में लिया गया गौरैया को बचाने का संकल्प लखनऊ। विश्व गौरैया दिवस के अवसर पर ए.जे.एस. एकेडमी के तत्त्वावधान में गौरैया दिवस मनाया गया। इस मौके पर गौरैया संरक्षण आधारित ऑनलाइन संगोष्ठी को वन्यजीव विज्ञानी डॉ. जितेंद्र शुक्ला ने संबोधित किया। गौरैया को प्रकृति और पारिस्थितकीय तंत्र के लिए आवश्यक बताते हुए वन्यजीव विज्ञानी डॉ.जितेन्द्र शुक्ला ने कहा कि आज गौरैया का वज़ूद खतरे में है। हमारे घर-आँगन और बाग़-बगीचे में चहचहाने वाली गौरैया हम सबकी भूल, लापरवाही और अनदेखी के चलते विलुप्ति के कगार पर है। आज जरूरत है कि धरती की रौनक गौरैया को बचाने के लिए गौरैया-मित्र समाज बने। कार्यक्रम में इससे पूर्व गौरैया संरक्षण अभियान के तहत संपन्न गौरैया संरक्षण विषय पर चित्रकला एवं स्लोगन प्रतियोगिता के विजेताओं की घोषणा की गई। वक्ताओं ने सभी विद्यार्थियों को अपने घरों में गौरैया-घर (स्पैरो हाउस) लगाने के लिए प्रेरित किया। संगोष्ठी में भाग ले रहे विद्यार्थियों और प्रतिभागियों को गौरैया संरक्षण की शपथ भी दिलाई गई।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या