बिना कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के पैथोलॉजी वाले नहीं कर पाएंगे कोई जांच सर्दी, जुकाम, खांसी के मरीजों को बिना चिकित्सक के रिकमेंडेशन के दवाइयां नहीं बिकेंगी उल्लंघन करने वाले मेडिकल स्टोर पर होगी एफआईआर की कार्यवाही

शिवम अग्निहोत्री ललितपुर। मुख्य विकास अधिकारी/प्र.जिलाधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। इस दौरान प्रभारी जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि मेडिकल स्टोर वाले किसी भी ऐसे व्यक्ति जिसमें खांसी, जुखाम, बुखार के लक्षण हो उसे बिना चिकित्सक के रिकमेंडेशन के किसी भी दशा में दवाएं ना दें, साथ ही यदि जनपद में कोई भी बिना चिकित्सक के रिकमेंडेशन के जांच करता है तो उसके विरुद्ध एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी। प्रभारी जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिए कि जनपद में कोई भी पैथोलॉजी बिना कोविड-19 की जांच के कोई जांच नहीं करेंगे, जांच से पहले संबंधित मरीज को कोविड-19 की जांच हेतु भेजेंगे, अन्यथा की स्थिति में संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। उक्त के अतिरिक्त जिन स्थानों पर निर्वाचन संबंधी प्रक्रिया चल रही हैं एवं जहां अधिक संख्या में लोग एकत्र हो रहे हैं वहां पर नियमित रूप से सैनिटाइजेशन का कार्य कराया जाए। इसके उपरांत अपर जिलाधिकारी ने समस्त खाद्य सुरक्षा अधिकारियों को निर्देश दिये है कि रेस्टोरेंट आदि खान-पान की दुकानों पर मास्क अनिवार्य रूप से प्रयोग किया जाए, किसी भी बिना मास्क लगाए व्यक्ति को सामान न बेचा जाए। कोई भी व्यक्ति रेस्टोरंट में बैठ कर खाना न खाये, केवल पैक कराकर अपने घर ले जा सकते हैं। इसके साथ ही समस्त ठेले वालों को भी चेक किया जाए। कन्टेन्मेंट जोन एवं सैनिटाइजेशन की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए गये कि नगर पालिका एवं पंचायती राज विभाग अपने-अपने क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाने में किसी प्रकार की लापरवाही ना बरतें, साथ ही मुनादी कराकर लोगों को जानकारी भी उपलब्ध कराएं। एम्बुलेंसों की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अवगत कराया कि कोविड-19 हेतु जनपद में 06 एम्बुलेंस क्रियाशील हैं, जो समय पर मरीज को लाने-लेजाने का कार्य करती हैं। इस पर निर्देश दिये गए कि एम्बुलेंसों को फिट रखा जाये, साथ ही उनमें ईधन की उपलब्धता भी पर्याप्त रखें। बैठक में अपर जिलाधिकारी वि./रा.अनिल कुमार मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक गिरजेश कुमार, सीएमओ डा.डी.के.गर्ग, सीएमएस डा.अमित चतुर्वेदी, क्षय रोग अधिकारी डा.जे.एस.बक्शी, डीपीआरओ अवधेश कुमार, डा.मुकेश दुबे सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या