छत्रसालपुरा विकास की आश से दूर

गडढे और अतिक्रमण से सकरी हुई सडकें
बीते 10 वर्षो से नहीं हुई सडकों की मरम्मत
राहगीरों को दुर्घटनाओं का अंदेश
ा ललितपुर। विगत दो दशक से भी अधिक समय से नगर के मोहल्ला छत्रसालपुरा के वाशिंदे विकास की आश में भौतिक सुविधाओं से जूझ रहे हैं। यहा की सडकें भीमकाय गडढों में तबदील हो गई है। जगह जगह अतिक्रमण से सडकें इतनी सकरी हो गई कि तीन पहिया वाहन तो दूर दो पहिया वाहनों का निकलना दूभर हो गया है और आए दिन गडढे दुर्घटनाओं का कारण बने हुए हैं। मोहल्लेवासियों का कहना है कि छत्रसालपुरा बाडई का नीम जो कि विख्यात है और प्राचीन मूर्तियां विराजित होने के कारण देवस्थान बना हुआ है यहां पर प्रतिदिन पूजन अर्चन श्रद्धालुजन तो करते ही है। साथ ही गणेश चतुर्थी एवं नवदुर्गा एवं वार्षिक जलविहार महोत्सव पर आयोजन मुहल्लेवासी अगाध श्रद्धा भक्ति के साथ करते हैं। यही नहीं जैन मंदिर एवं देवी मंदिर जाने का मार्ग सुगम होने के कारण यहां धर्मालु नर-नारी बहुताएत में पैदल वगैर जूते चप्पल के इस मार्ग से जाते हैं। बाढई के नीम से आजादचौक जाने वाला मार्ग एवं मुल्ला जी की गली का मार्ग जो कि सावरकर चौक और आजाद चौक जाने के लिए सुगम है और वहुताय आवागमन रहता है। इस मार्ग का निर्माण दो दशक पूर्व पेवर व्रेक्स लगाकर करावा गया था। समय चलते मरम्मत न होने के कारण इस मार्ग के पेवर व्रेक्स जगह जगह घिस गए और और गडढों में तब्दील हो गए जिस कारण दो पहिया वाहन वडी मुश्किल से निकल पाता है। बाढई के नीम से मुल्ला जी की गली एवं आजाद चौक जाने वाले मार्ग पर जगह जगह मुहल्ले वाशिंदों से अपनी सुविधा से सडक पर अनावश्यक कब्जा पत्थर आदि लगाकर स्थाई रूप से कर लिया है जिससे तीन पहिया वाहन नहीं निकल पाते हैं यहां कि नगरपालिका कूडा संकलित करने वाली गाडी भी इस मार्ग से नहीं निकल पाती है। जिला प्रशासन एवं पालिका प्रशासन का समय समय पर ध्यानाकर्षित करने के बाबजूद भी समस्या जस की तस बनी हुई है। इसी मार्ग पर वाढई के नीम से मस्जिद को जाने वाली गली की नाली पर आधी अधूरी जाली रखी है जिससे आए दिन वाहन नाली में गिर जाते हैं अंधेरे में मोहल्ले वासी भी इस नाली में चोटिल हुए हैं। इनका कहना पूर्व पार्षद नरेन्द्र जैन छोटे पहलवान का कहना है कि दो दशक पूर्व वाडई के नीम के नीचे से मुल्ला जी एवं आजाद चौक वाले मार्ग की हालत अत्यन्त दयनीय है निर्माण जरूरी है इससे मुहल्लेवासी अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पार्षद अफजुल का कहना है कि राजनैतिक प्रतिद्धन्दता के चलते नगरपालिका वार्ड में विकास कार्य नहीं करा रही है अगर सपा की सरकार होती तो वार्ड की तस्वीर ही दूसरी होती। हमारा प्रयास है शीघ्र ही वार्ड की जीर्णशीर्ण सडकों निर्माण कराया जाए।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि