आरटीपीसीआर के अधिकांश परिणाम लंबित

लैब से समन्वय स्थापित करने के निर्देश
प्रभारी डीएम ने कोर कमेटी की बैठक में दिये निर्देश
शिवम अग्निहोत्री
ललितपुर। मुख्य विकास अधिकारी/प्र.जिलाधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। बैठक में सर्वप्रथम विगत 24 घंटे के कोविड परिणामों पर चर्चा हुई। मरीजों का कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग अनुपात 1:35.63 है। आर.टी.पी.सी.आर. के अधिक परिणाम लम्बित होने पर प्रभारी जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि लैब से समन्वय स्थापित कर जांच के परिणामों में तेजी लायें। कोविड अस्पतालों की समीक्षा के दौरान खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा बताया गया कि एल-2 अस्पताल में भोजन की गुणवत्ता ठीक है। मौके पर डा.दोहरे ने अवगत कराया कि अस्पतालों में विद्युत, पानी एवं शौचालय सहित सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त हैं। इस पर प्र.जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि अस्पताल में मरीजों की संख्या के अनुसार भोजन उपलब्ध कराया जाए, साथ ही अस्पतालों का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं के बारे में अवगत करायें। कांटेक्ट ट्रेसिंग की समीक्षा के दौरान प्र.जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि मानक के अनुसार कांटेक्ट ट्रेसिंग करायें, साथ ही होम आईसोलेशन के मरीजों से दिन में 03 बार दूरभाष से सम्पर्क कर निगरानी करें। पोर्टल फीडिंग की समीक्षा के दौरान डा.देशराज ने अवगत कराया कि पोर्टल पर नियमित रुप से फीडिंग करायी जा रही है। इस पर निर्देश दिये गए कि फीडिंग के कार्य को अद्यतन रखा जाये। कन्टेन्मेंट जोन एवं सैनिटाइजेशन की समीक्षा के दौरान अवगत कराया कि उन्होंने नगरीय क्षेत्र के 14 घरों का निरीक्षण किया, जहां 14 में से मात्र 4 घरों को बैरीकेट कर कन्टेंमेंट जोन बनाया गया है, इस पर ईओ को शेष घरों को शीघ्र बैरीकेटर कराने के निर्देश दिये गए, इसके साथ ही जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया गया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सघन सैनेटाईजेशन करायें, निगरानी समितियों को सक्रिय करें तथा मुनादी करायें। बैठक के दौरान सर्विलांस की समीक्षा के दौरान बताया गया कि विकास खण्ड बिरधा के ग्राम बारौद, मैनवार, पडऩा एवं पारौन में आशाएं नहीं जा रही हैं। इस पर मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये गए कि उक्त ग्रामों में आशाओं को भेजकर सर्वे करायें। एम्बुलेंसों की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अवगत कराया कि कोविड-19 हेतु जनपद में 06 एम्बुलेंस क्रियाशील हैं, जो समय पर मरीज को लाने-लेजाने का कार्य करती हैं। आर.आर.टी. की समीक्षा के दौरान अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिये गए कि वे टीमों को प्रत्येक वार्ड के पार्षद की नाम व मोबाइल नम्बर की सूची एवं निगरानी समितियों की सूची उपलब्ध करायें ताकि टीमों को कार्य करने में सहयोग मिल सके, साथ ही आर.आर.टी. टीम को निर्देश दिये कि वे वार्डों में जाने से पूर्व अधिशासी अधिकारी और सम्बंधित पार्षद से सम्पर्क कर लें। बैठक में अपर जिलाधिकारी वि./रा.अनिल कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी न्यायिक रजनीश राय, सीएमओ डा.डी.के.गर्ग, सीएमएस डा.अमित चतुर्वेदी, सीएमएस डा.हरेन्द्र सिंह चौहान, क्षय रोग अधिकारी डा.जे.एस.बक्शी, डीपीआरओ अवधेश कुमार, डा.मुकेश दुबे सहित सम्बन्धित अधिकारी एवं चिकित्सा विभाग के अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या