संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। -अमित मोहन प्रसाद

लखनऊ: 20 अप्रैल, 2021 उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ श्री नवनीत सहगल ने बताया कि कोविड प्रबंधन के संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी प्रतिबद्धता के साथ टीम-11 सदस्यों के साथ वर्चुअल समीक्षा बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये है। प्रत्येक शुक्रवार रात 08 बजे से सोमवार सुबह 07 बजे तक सम्पूर्ण प्रदेश में साप्ताहिक बंदी रहेगी। इस दौरान पूरे प्रदेश में सैनेटाइजेशन, स्वच्छता एवं सफाई का कार्य नगर निगम द्वारा शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जायेगा। आवश्यक सेवाओं एवं सामान्य औद्योगिक गतिविधियों को छोड़कर सभी गतिविधियां बाधित रहेंगी। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों कि जो परीक्षायें चल रही है। वो अपना आई-कार्ड दिखाकर परीक्षायें देने जा सकते है। सरकारी कर्मचारी भी अपना आई-कार्ड दिखाकर साप्ताहिक बंदी में कार्यालय जा सकते है। सभी नागरिकों से अपील है कि इस साप्ताहिक बंदी का सहयोग करे। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र, दिल्ली व राजस्थान से प्रवासी जनों की वापसी हो रही है। सीमावर्ती जिलों में विशेष सर्तकता बरतने की आवश्यकता है। इन प्रवासी कामगारों को सुगमतापूर्ण आवागमन की व्यवस्था की जाए, गृह विभाग और परिवहन विभाग समन्वय बनाकर आवश्यक कार्यवाही करे। उन्होंने बताया कि प्रवासी श्रमिकों की जांच कराकर ही उनकें उनके गतंव्य स्थान पर भेजा जायेगा। जनपदों में प्रवासी नागरिकों के लिये संक्रमित होने पर आवश्यकतानुसार कार्यवाही व क्वारांटाइन सेंटरों की व्यवस्था सुनिश्चित करे। इन प्रवासी श्रमिकों की टेस्टिंग और आवश्यकतानुसार ट्रीटमेंट की समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिये है। श्री सहगल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिये है कि लखनऊ के केजीएमयू व बलरामपुर चिकित्सालय पूरी क्षमता के साथ डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के कार्य को तेजी से संचालित किया जा रहा है। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री को निर्देशित किया गया है। बलरामपुर चिकित्सालय में 700 बेड के विस्तार में अब तक 350 बेड तैयार किये जा चुके हैं तथा शेष बेड त्वरित गति से शुरू करने के निर्देश दिये है। इसके साथ-साथ लखनऊ में एरा, टीएस मिश्रा, इंट्रीगल, हिन्द तथा मेयो मेडिकल कालेज को पूरी क्षमता के साथ डेडीकेटेड कोविड अस्पताल के रूप में संचालित किया जाए। पूरे लखनऊ शहर में लगभग 4000 से अधिक बेड उपलब्ध होंगे। इसके साथ-साथ लखनऊ, कानपुर नगर, वाराणसी, प्रयागराज, झांसी, गोरखपुर, मेरठ जनपदों सहित प्रदेश के सभी जिलों सहित कोविड बेड की संख्या को त्वरित गति से बढ़ाया जाये। आॅक्सीजन के संबंध में उन्होंने समीक्षा की है कि भारत सरकार के द्वारा प्रदेश में आॅक्सीजन का कोटा बढ़ाया जाने पर संतोष व्यक्त किया है और उन्होंने सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये है कि अस्पतालों में आॅक्सीजन समय से उपलब्ध हो और मरीज को किसी भी प्रकार की असुविधा व कठिनाई का सामना न करना पड़े। श्री सहगल ने बताया कि एमएसएमई सहित सभी छोटी बड़ी औद्योगिक इकाइयों में उत्पादित होने वाली आॅक्सीजन का इस्तेमाल केवल मेडिकल कार्य के लिए किये जाए। इन आॅक्सीजन प्लांट को इनके निकटतम हास्पिटल के जोड़ा जाए। अभी तक 90 इकाइयों को 285 अस्पतालों को जोड़ा गया है। रेमेडेसिवर की उपलब्ध के विषय में भी समीक्षा की गयी और रेमेडेसिवर की निरन्तर उपलब्धता सुनिश्चित कराकर सरकारी अस्पतालों में, बाजारों में समय े पर उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये है। सभी स्वास्थ्य व एफडीए के अधिकारियों के साथ पुलिस को भी निर्देशित किया है कि सभी आॅक्सीजन प्लांट पर तथा आॅक्सीजन वाले वाहनों की पुलिस सुरक्षा के साथ-साथ जीपीएस माॅन्टरिंग करने के निर्देश दिये गये है। आॅक्सीजन व अन्य जीवन रक्षकों दवाओं की कालाबाजारी व मुनाफाखोरी रोकने के लिए कठोरतम कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। जो लोग कालाबाजारी कर रहे है उनके खिलाफ एनएसए के तहत सख्त से सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद किये जाने हेतु 6000 क्रय केन्द्र स्थापित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि एक नई व्यवस्था के तहत कृषक उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) को भी क्रय केन्द्र खोलने की अनुमति दी गयी है। उन्होंने बताया कि किसान उत्पादक संगठन 150 केन्द्रों के माध्यम से संचालित किया जायेगा। उन्होंने जिलाधिकारियों के द्वारा कृषक उत्पादक संगठनों (एफ0पी0ओ0) को भी क्रय केन्द्रों से जोड़कर गेहूं क्रय का कार्यक्रम शुरू कर दिया गया है। यह व्यवस्था प्रदेश में पहली बार हो रही है। 01 अप्रैल से 15 जून, 2021 तक गेहू खरीद का अभियान जारी रहेगा। गेहू क्रय अभियान में अब तक 4,27,629 लाख मी0 टन से अधिक गेहूं खरीदा गया है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग का कार्य करते हुए, टेस्टिंग की क्षमता निरन्तर बढ़ायी जा रही है। गत एक दिन में कुल 2,00,137 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 3,86,66,846 सैम्पल की जांच की गयी है। इसमें लगभग 90,000 सैम्पलों की जांच आरटीपीसीआर के माध्यम से की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 29,754 नये मामले आये है। प्रदेश में 2,23,544 कोरोना के एक्टिव मामले में से 1,76,760 लोग होम आइसोलेशन में, निजी चिकित्सालयों में 4,455 लोग तथा शेष मरीज सरकारी चिकित्सालयों में इलाज भी करा रहे हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटों में 14,391 लोग तथा अब तक कुल 6,75,702 लोग डिस्चार्ज हुए है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 2,15,435 क्षेत्रों में 5,48,784 टीम दिवस के माध्यम से 3,27,53,150 घरों के 15,84,52,218 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में 45 वर्ष सेे अधिक आयु वालों का कोविड वैक्सीनेशन किया जा रहा है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि 45 वर्ष से अधिक लोगों का कोविड वैक्सीनेशन कराने में सहयोग प्रदान करें। अब तक 92,44,878 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज दी गयी तथा पहली डोज लेने वालों में से 16,89,688 लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी गयी हैं। इस प्रकार कुल 1,09,34,566 वैक्सीन की डोज लगायी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि जो लोग होम आइसोलेशन में वह डाॅक्टर की सलाह लेना चाहते है वो हेल्पलाइन नं0 18001805146 पर सम्पर्क कर सकते है। श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों सहित कोविड बेड की संख्या को बढ़ाने के निर्देश दिये है। सभी जिलों को निर्देशित किया गया है कि प्रत्येक जगह 200-200 बेड का विस्तार किया जाएं। इस प्रकार से करीब 15,000 बेड का इजाफा हो सकेगा। आॅक्सीजन की व्यवस्था भी की जा रही है और अन्य जो जीवन रक्षक दवाईयां है, कोविड के लिए आवश्यक दवाइंया है इन सबकी उपलब्धता सुनिश्चित करवायी जा रही है। टेस्टिंग, कांट्रेक्ट ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मास्क लगाने हेतु जागरूकता के माध्यम से सभी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सभी से अपील है कि मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे। सार्वजनिक स्थलों पर मास्क न लगाने की जुर्माने की दर 1000 रूपये कर दिया गया है। अगर दूसरी बार सार्वजनिक स्थलों पर पकड़े जाते है तो 10,000 रूपये जुर्माना लगाया जायेगा। इसलिए आप लोग मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे और अपने आस-पास के लोगों से भी मास्क का जागरूक करे कि वह मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे। उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने 01 मई से 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। उन्होनें बताया कि आप सभी लोग मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सैनेटाइजर व हाथ साबुन से अवश्य धोते रहे। उन्होंने बताया कि संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें। अपने हाथ को साबुन-पानी से निरन्तर धोते रहें। भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। उन्होंने कहा कि घर के बड़े-बुजुर्गों का टीकाकरण अवश्य कराएं।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या