कचहरी परिसर में अधिवक्ता के आत्महत्या करने का मामला

पीडि़त पत्नी ने एसपी को भेजा शिकायती पत्र, कार्यवाही की मांग
ललितपुर। करीब ढाई माह पूर्व कचहरी परिसर परिसर के अधिवक्ता चेंबर में एक प्रतिष्ठित वकील द्वारा आत्महत्या कर ली गई थी जिसमें उन्होंने एक सुसाइड नोट छोड़ा था और उसमें अपने ही भाई भतीजा सहित करीब 16 को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का दोषी ठहराया था। जिसके आधार पर पुलिस ने मामले को पंजीकृत कर लिया था लेकिन किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की थी। जिसके बाद से सभी आरोपियों द्वारा मृतक की पत्नी पर मामले में राजीनामा का दबाव बनाया जा रहा है। उक्त घटना के संबंध में मृतक की पत्नी ने पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र भी दिया जिसमें उसने सभी आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग भी उठाई।              मिली जानकारी के अनुसार श्रीमती नमिता श्रीवास्तव पत्नी स्व.रामशरण श्रीवास्तव निवासी शिवलोक, नदीपुरा ने पुलिस अधीक्षक को दिए गए शिकायती पत्र में अवगत कराया कि उसके मृतक पति ने अपने बड़े भाई, भाभी, भतीजे, भतीज बहू व इनके परिवार के अन्य लोगों से प्रताडि़त होकर 11 जनवरी 2021 को विषाक्त पदार्थ का सेवन कर कचहरी परिसर में आत्महत्या कर ली थी। उक्त घटना के संबंध में उन्होंने 16 पेज का एक सोसाइट अंकित किया था जिसमें नाम व कारण अंकित था। जिसके आधार पर मेरे द्वारा पुलिस को दी गई तहरीर पर सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 306 में मामला तो पंजीकृत कर लिया था, लेकिन उसके बाद सदर कोतवाली पुलिस ने उक्त मामले में कोई ठोस कार्यवाही अमल में नहीं लाई। जिसके बाद से सभी आरोपी विपक्षीगण लगातार परेशान कर प्रताडि़त कर लगातार तरह तरह से धमकियां दे रहे हैं और मामले में राजीनामा करने का दबाव बना रहे हैं। शिकायती पत्र के माध्यम से पीडि़ता ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग उठाई है। यह था पूरा मामला सम्पत्ति के विवाद में एडवोकेट रामशरण श्रीवास्तव द्वारा आत्महत्या का ताजा मामला कचहरी परिसर में बने जिला बार भवन का था। जहां उन्होंने 17 जनवरी को कचहरी परिसर में बने अधिवक्ता चेंबर में कीटनाशक दवा का सेवन कर इसलिए आत्महत्या कर ली थी कि उन्हें उनकी पुश्तैनी जायदाद मकान आदि से बेदखल कर दिया गया था। संपत्ति के बंटवारे की विवाद का मामला न्यायालय में लंबित था और दोनों भाई के बीच जमकर विवाद भी चल रहा था फैसला आने के बाद अधिवक्ता ने उक्त घटना को अंजाम दिया था।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या