मथुरा में अठारह घण्टे में ऑक्सीजन प्लाण्ट तैयार, ललितपुर में 18 दिन बाद भी नहीं ?

ललितपुर। बुन्देलखण्ड विकास प्रमुख हरीश कपूर टीटू ने शासन से मांग की वर्तमान में कोरोना महामारी के चलते पूरे भारत में त्राहि त्राहि मची हुई है और ललितपुर जिले में कई लोग ऑक्सीजन के अभाव में मौत के आगोश में जा चुके हैं। ऐसे में शासन द्वारा जिला चिकित्सालय में मंजूर ऑक्सीजन प्लांट को दृढ और असाधारण इच्छाशक्ति दिखाते हुए जिला प्रशासन को तत्काल प्रभाव से चालू कराना चाहिए ताकि जिले में और बुन्देलखण्ड क्षेत्र में ऑक्सीजन के अभाव में होने वाली मौतों पर काबू पाया जा सके। ऐसे समय में मौजूदा जिला प्रशासन को मथुरा प्रशासन से प्रेरणा लेने की आवश्यकता है जिन्होंने असाधारण कार्यप्रणाली दिखाते हुए कुछ ही घंटों में ऑक्सीजन प्लांट चालू करवा दिया। विकास सेना प्रमुख ने कहा कि कल की एल 2 हॉस्पीटल तालबेहट में वहां के चिकित्सकों और स्टाफ द्वारा शराब के नशे में धुत्त होकर मरीजों के साथ की जाने वाली घोर लापरवाही अक्षम्य है। ऐसी लापरवाही को बु.वि. सेना बर्दाश्त नहीं करेगी। अगर चिकित्सक अथवा स्वास्थ्यकर्मी किसी भी मरीज के साथ अच्छा मधुर व्यवहार और ड्यूटी में लापरवाही करते हैं तो विकास सेना उग्र आन्दोलन के लिए बाद्ध हो जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि जिला प्रशासन लॉकडाउन का पूर्णरूप पालन कराये। बाजार में भीड़ न बढऩे दे ताकि कोरोना वायरस की चेन को आसानी से तोड़ा जा सके। उन्होंने सभी नागरिकों से लॉकडाउन का सख्ती से पालन करने का आवाहन किया तथा दो गज दूरी और मास्क का उपयोग करने के साथ संतुलित आहार और उचित व्यायाम करने की भी अपील की।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि