कोरोना महामारी के दौरान राजस्व में वृद्धि होना प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए सुखद वित्तीय वर्ष 2021-22 के अप्रैल माह में 13175.97 करोड़ रुपए लक्ष्य के सापेक्ष 11196.49 करोड रुपए की राजस्व प्राप्ति - सुरेश कुमार खन्ना

वित्तीय वर्ष 2021-22 के अप्रैल माह में कुल 11196.49 करोड रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ अप्रैल 2020 की तुलना में 9898.44 करोड़ रुपए अधिक राजस्व की प्राप्ति लखनऊ: 05 मई, 2021 प्रदेश के वित्त मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौर में भी प्रदेश की जनता इसके लिए बधाई की पात्र है कि उनकी बदौलत मुख्य कर एवं करेत्तर राजस्व वाले मदों में वित्तीय वर्ष 2021-22 के अप्रैल माह में कुल 11196.49 करोड रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ, जो कि पिछले वर्ष इसी अवधि में अप्रैल 2020 की तुलना में 9898.44 करोड़ रुपए अधिक राजस्व प्राप्त हुआ है। उन्होंने कहा कि गत वर्ष 2020-21 के अप्रैल माह में मात्र 1298.05 करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ था। वित्त मंत्री श्री खन्ना आज अपने कार्यालय कक्ष में पत्रकारों के साथ वार्ता के दौरान राजस्व प्राप्ति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि विगत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष राजस्व की अधिक प्राप्त हुई है। कोरोना महामारी के दौरान राजस्व में वृद्धि होना प्रदेश की अर्थव्यवस्था के लिए सुखद है। उन्होंने बताया कि जीएसटी के अंतर्गत माह अप्रैल 2021 में 4965.35 करोड़ रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष कुल 5157.11 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जो कि गत वर्ष अप्रैल 2020 में 670.71 करोड रुपए प्राप्त हुई थी। इसी प्रकार वैट के अंतर्गत माह अप्रैल 2021 में 1307.62 करोड़ रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 826.53 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जोकि गत वर्ष अप्रैल 2020 में 402.22 करोड रुपए प्राप्त हुई थी। वित्त मंत्री ने बताया कि आबकारी के अंतर्गत अप्रैल 2021 में 3940 करोड रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 3240.77 करोड रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जोकि पिछले वर्ष अप्रैल 2020 में 53.46 करोड रुपए की राजस्व प्राप्त हुई थी। इसी प्रकार स्टांप एवं निबंधन के तहत 1854 करोड़ रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 1218.39 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जो कि पिछले वर्ष अप्रैल 2020 में 17.41 करोड रुपए की प्राप्ति हुई थी। उन्होंने कहा कि परिवहन के अंतर्गत अप्रैल 2021 में 771 करोड रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 553.95 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जो कि पिछले वर्ष अप्रैल 2020 में 100.09 करोड़ रुपए थी। उन्होंने बताया कि भूतत्व एवं खनिकर्म के अंतर्गत अप्रैल 2021 में 338 करोड़ रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 199.74 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई, जो कि पिछले वर्ष अप्रैल 2020 में मात्र 54.16 करोड रुपए प्राप्त हुई थी। इस प्रकार कुल मद से वित्तीय वर्ष 2021-22 के अप्रैल माह में 13175.97 करोड़ रुपए के लक्ष्य के सापेक्ष 11196.49 करोड रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या