अब 45 वर्ष से ऊपर के भी प्रदेशवासी पंजीकरण के उपरांत मिलने वाले समय पर ही जाएँगे टिकाकरण कराने। स्वास्थ्य सम्बंधित सुरक्षा को देखते हुए प्रदेश सरकार ने जारी किया दिशा निर्देश।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि