लोनिवि के 67 अवर अभियंता की पदोन्नति सूची जारी

चुनाव डियुटी के दौरान मृत्यु का शिकार अभियंताओं को तत्काल मुआवजें की मांग लखनऊ 14 मई। उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ लोक निर्माण विभाग के अध्यक्ष इं. एन.डी. द्विवेदी ने विभाग के 67 अवर अभियंताओं की सूची जारी होने पर शासन और विभाग को बधाई देते हुए चुनाव डियुटी निमाने वाले अवर अभियंताओं के परिजनों को अविलम्ब 50 लाख की मुआवजा राशि दिलाए जाने का अनुरोध किया है। संघ के अध्यक्ष एन.द्विवेदी ने बताया कि लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश में 67 अवर अभियंता सहायक अभियंता पद पर पदोन्नत किए गए।इन अभियंताओं की डीपीसी लोक सेवा आयोग द्वारा मार्च में संपादित कर परिणाम जारी कर दिया गया था। मार्च में कैबिनेट मंत्री लोक निर्माण विभाग द्वारा परिणाम अनुमोदित भी कर दिया गया था परंतु 26 मार्च को पंचायत चुनाव अधिसूचना जारी हो जाने के कारण पदोन्नति आदेश निर्गत नहीं किए गए। जबकि पदोन्नति के उपरांत इनकी पोस्टिंग उसी खंड में होनी थी जहां यह पहले से कार्यरत थे। इस प्रकार चुनाव प्रक्रिया में कोई व्यवधान नहीं था लेकिन निर्वाचन आयोग द्वारा अनावश्यक हस्तक्षेप कर पदोन्नति प्रक्रिया में व्यवधान पैदा किया गया। संघ द्वारा इस पर पत्राचार भी किया गया।अंततः आचार संहिता समापन के उपरांत शासन द्वारा पदोन्नति आदेश निर्गत किए गए। सभी पदोन्नति प्राप्त अभियंताओं को डिप्लोमा इंजीनियर संघ लोक निर्माण विभाग उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष इं एन.डी.द्विवेदी, वरिष्ठ उपाध्यक्ष इं श्रवण कुमार यादव एवं महामंत्री इं प्रकाश चंद ने बधाई एवं शुभकामनाएं दी। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के प्रांतीय अध्यक्ष इं हरि किशोर तिवारी एवं उपाध्यक्ष इं दिवाकर राय ने भी पदोन्नत साथियों को शुभकामनाएं प्रेषित की हैं। संघ ने मांग की है कि जूनियर इंजीनियरो को तत्काल फ्रन्ट लाइन वर्कर घोषित कर सभी अवर अभियंताओं को सर्वोच्च प्राथमिकता पर वैक्सीन लगाई जाये।मृत कर्मियों के परिजनों को शीघ्रातिशीघ्र 50 लाख रुपये के मुआवजा का भुगतान सुनिश्चित किया जाये तथा मृत कर्मियों के आश्रितों को उनकी योग्यतानुसार नौकरी दी जाये।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा

पौष्टिकता से भरपूर: चंद्रशूर