क्रय केन्द्र पर गेंहू क्रय करने को जगह नहीं ,संदिग्धावस्था में खड़े ट्रक में सरकारी गेंहू व वारदाना मिला

डीएम ने सम्बन्धितों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के दिये निर्देश
ललितपुर। जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार ने विकास खण्ड मड़ावरा के ग्राम गुरियाना में सडक़ के किनारे खड़े सन्दिग्ध ट्रक को चेक किया। मौके पर ट्रक को देखने पर पाया गया कि ट्रक में गेंहू की बोरी जोकि सरकारी बारदाना से सम्बन्धित थी, लादी जा रही थी। मौके पर जिलाधिकारी ने उपस्थित लोगों से पूछताछ की जिस पर रामराजा पुत्र जन्डैल सिंह नि. गुढ़ाबुजुर्ग द्वारा अवगत कराया गया कि यह गेंहू उनका है, जो निजी भूमि में उत्पादित किया गया है। क्रय केन्द्र गुरियाना पर जगह न होने के कारण उनके द्वारा सडक़ के किनारे गेंहू बेचा गया है। कथन के समर्थन में मौके पर वह कोई ठोस एवं ग्राह्य साक्ष्य प्रस्तुत नहीं कर सके। मौके पर लगभग 400 बोरियां रखी पायी गयी। अवलोकन करने और ट्रक से साधन सहकारी सहमति पारौल स्थान गुरियाना की दूरी करीब 100मी. पायी गयी, जो नियमानुसार गलत है। पूछताछ करने पर जानकारी प्राप्त हुई कि साधन सहकारी समिति पारौल के लेखाकार आकाश पटैरिया द्वारा पदीय दायित्वों में लापरवाही की गयी है। मौके पर जिलाधिकारी द्वारा बरसात को दृष्टिगत रखते हुए गेंहू के सुरक्षित भण्डारण, समय से उठान एवं कृषकों को उनका विक्रय मूल्य समय पर उपलब्ध कराने हेतु भी निर्देश दिये गये। यह भी निर्देश दिये गये कि न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त अन्य किसी प्रकार की धनराशि लेने पर सम्बंधित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक (सहकारिता) ललितपुर को निर्देशित किया गया कि वह तत्काल मौके पर जाकर जॉच करके उत्तरदायी/दोषी व्यक्तियों के विरूद्व कार्यवाही सुनिश्चित करायें तथा आख्या उपलब्ध करायें। नशे में धुत्त क्रय केन्द्र प्रभारी पर एफआईआर व निलंबन
विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों से आया कि बिरधा एफएसएस के क्रय केन्द्र प्रभारी शिवराज कुशवाहा कार्य दिवस में शराब के नशे में धुत रहतें हैं, जिससे गेंहू खरीद का कार्य बाधित होता है तथा कृषकों को परेशानी होती है। उक्त प्रकरण का संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी अन्नावि दिनेशकुमार ने सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंधक सहकारिता, ललितपुर को प्रकरण की जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये, जिसके परिपालन में सहायक आयुक्त एवं निबंधक सहकारिता के द्वारा प्रकरण की जांच कर बिरधा एफएसएस के क्रय केन्द्र प्रभारी शिवराज कुशवाहा के विरुद्ध निलंबन की कार्यवाही एवं एफआईआर दर्ज कराने की कार्यवाही की गई है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा