यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई ने प्रोफेसर पद से दिया इस्तीफा, नियुक्ति पर उठे थे सवाल

=================== सुरेन्द्र अग्निहोत्री ,लखनऊ, 26 मई 2021 , उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के भाई ने असिस्टेंट प्रोफेसर पद से इस्तीफा दे दिया है। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में उनकी नियुक्ति को लेकर बवाल हो गया था। इस्तीफे की पुष्टि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सुरेंद्र दुबे ने की है। कुलपति ने बताया कि अरुण द्विवेदी ने इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस्तीफा देने की वजह अपने व्यक्तिगत कारण बताए हैं। कुलपति ने बताया कि अरुण द्विवेदी का इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है। आपको बता दें कि बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के छोटे भाई अरुण द्विवेदी की नियुक्ति सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान के प्रोफेसर के पद पर हुई थी। जिसे लेकर बड़ा बवाल खड़ा हो गया। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस समेत तमाम लोग इस नियुक्ति पर सवाल खड़े कर रहे थे। मामला मुख्यमंत्री तक पहुंचा। मुख्य विपक्षी दल इस नियुक्ति की सीबीआई जांच करवाने की मांग करने लगे। अंततः बुधवार को अरुण द्विवेदी ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया है। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के कुलपति ने बताया कि अरुण द्विवेदी ने दोपहर में त्यागपत्र दिया है। उन्होंने इसकी वजह व्यक्तिगत कारण बताए हैं। उनका त्यागपत्र स्वीकार कर लिया गया है। इस नियुक्ति से 2 दिन पहले ही विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर सुरेंद्र दुबे का कार्यकाल भी बढ़ाया गया था। एक साथ कुलपति के कार्यकाल का विस्तार और बेसिक शिक्षा मंत्री के भाई की बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर नियुक्ति संदेह के दायरे में आ गई। समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने बेसिक शिक्षा मंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। उनके खिलाफ सीबीआई जांच करवाने की मांग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है।
मंत्री बेसिक शिक्षा सतीश चंद्र द्विवेदी के परिवार में चार भाई एवं मां हैं !! मन्त्री जी, के पिता का देहान्त हो चुका है !
सभी भाई शादीशुदा हैं ! और सभी की पत्नियां सरकारी नौकरी में हैं !!
मन्त्री जी की माँ के नाम गांव में 36 बीघा जमीन है एवं गांव में आलीशान मकान है !! विधायक बनने के बाद सिद्धार्थनगर जनपद में परिवार द्वारा करोड़ों रुपए की जमीन खरीदी गई :- विशुनपुर सैनी 8 बीघा, इटवा, बिस्कोहर रोड़, डुमरियागंज रोड़ पर भारत पेट्रोल पंप के पीछे एक बीघा आवासीय जमीन, पूर्व विधायक स्वयंवर चौधरी के घर के बगल में NH पर एक बीघा आवासीय जमीन आदि शामिल है !! मन्त्री जी, सिद्धार्थनगर स्थित एक डिग्री कॉलेज में सहायक प्रोफेसर, मन्त्री जी की पत्नी लखनऊ के डिग्री कॉलेज में मन्त्री, मन्त्री जी के दूसरे भाई भी डिग्री कॉलेज में सहायक प्रोफेसर हैं, और मन्त्री जी के चौथे भाई अनिल, परिषदीय विद्यालय में अध्यापक हैं ! मन्त्री जी के जिस भाई अरुण द्विवेदी की विश्वविद्यालय में नियुक्ति पर विवाद है वह वनस्थली विद्यापीठ, राजस्थान में अध्यापन कार्य कर रहे थे और लगभग 75, 000 / रु बेतन में प्राप्त कर रहे थे ! अरुण द्विवेदी ने जिनके साथ शादी की है, वह भी वनस्थली विद्यापीठ में अध्यापन कार्य कर रहीं थीं ! जो वर्तमान में एम एस डिग्री कॉलेज, मोतिहारी ( बिहार ) में सहायक प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं ! वर्ष 2019 में सिद्धार्थनगर विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान विभाग के लिये सहायक प्रोफेसर के दो पदों की विज्ञप्ति निकलती है, एक पद अति पिछड़ा वर्ग और एक पद EWS, और 150 से ज्यादा आवेदन प्राप्त होते है ! जुलाई 2020 में आवेदन पत्रों की स्क्रीनिंग होती है, इसके आधार पर फरवरी 2021 में साक्षात्कार के लिए 10 अभ्यर्थियों को आमंत्रित किया जाता है, साक्षात्कार ( 6 सदस्यों की कमेटी, जिसमें कुलपति भी शामिल ) के दिन एक अभ्यर्थी अनुपस्थित रहता है ! साक्षात्कार के बाद लिफाफे बन्द कर दिये जाते हैं ! 21 मई 2021 ( उप्र में कोरोना के कारण तत्कालीन समय में 24 मई तक लॉक डाउन जारी था ) को लिफाफा, कुलपति सुरेन्द्र दुबे के समक्ष खोला गया और अरुण द्विवेदी का चयन हो गया ! और अरुण द्विवेदी ने तत्काल ही 21 मई को ही जॉइन भी कर लिया ! EWS नियम:
जमीन : 5 एकड़ से कम
आवासीय प्लॉट / आवासीय मकान :- गांव में : 1000 वर्ग फुट शहर में : 900 वर्गफुट परिवार की वार्षिक आय : 8 लाख से कम !!!!a

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या