कोविड उपचार में बढ़े हाथ, एप के माध्यम से बेड और ऑक्सीजन की उपलब्धता और जरूरी जानकारी मुहैया करा रहे युवा

ललितपुर। कोविड संक्रमण के बढऩे के साथ ही इससे प्रभावित मरीजों की मदद को बड़ी संख्या में लोग आगे आ रहे है। बहुत से ऐसे ग्रुप और सोशल मीडिया पेज बनाए गए है, जहां जानकारियों का अंबार लग रहा है। ऐसे में कौन सी जानकारी सही और अभी उपलब्ध है इस बात की पुष्टि करना थोड़ा मुश्किल हो रहा है। ऐसे में दो दोस्त प्रखर और गौतम ने मिलकर एक मुहिम छेड़ी है। इन्होने एक ऐसा एप बनाया है, जिस पर बेड (वेंटिलेटर, ऑक्सीजन और नॉन ऑक्सीजन), ऑक्सीजन उपलब्धता के साथ जांच केन्द्रों की जानकारी अंकित की है। इस एप का नाम झाँसी रिसोर्सिस है, इसे फोन या कंप्यूटर पर आसानी से चला सकते हैं। यह एप न सिर्फ झांसी वालों के लिए बल्कि झांसी के आसपास उन सभी जिलों के लिए मददगार है जो झाँसी इलाज के लिए आ रहे हैं। प्रखर बताते हैं कि करीब एक हफ्ते पहले ही उन्होने यह एप बनाया है, इसके लिए उन्होने सरकार द्वारा निर्धारित अस्पतालों की सूची तैयार की है और अब उनसे नियमित रूप से बेड की उपलब्धता का फॉलो अप करते हैं और उसे तुरंत एप पर दर्ज कर देते हैं। शुरुआत में वह और गौतम ही थे लेकिन इतने कम समय के अंतराल में लगभग 20-25 लोग उनकी इस मुहिम से जुडक़र लोगों की मदद कर रहे हैं। एप के बारें में जानकारी देते हुये गौतम बताते हैं कि इस एप में न सिर्फ अस्पतालों का नाम बल्कि वहाँ कितने बेड उपलब्ध हैं। उसकी जानकारी अस्पताल के नंबर से साथ दर्ज की जाती है। साथ ही झाँसी में चार ही ऑक्सीजन विक्रेता हैं, उनकी पूर्ण जानकारी भी एप पर है। जांच के संबंध के पैथोलॉजी के नाम के साथ वहाँ कौन कौन सी जांच होती है और वह कितने दिन में रिपोर्ट मुहैया करा देते हैं, यह जानकारी भी वहाँ मौजूद है। दोनों लोगों का कहना है कि हमारी कोशिश होती है कि जरूरतमंद लोगों तक सही समय पर सही जानकारी पहुँच सके।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या