मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रोजेक्ट माॅनिटरिंग ग्रुप की बैठक आयोजित

दिनांक: 25 मई, 2021 लखनऊ। मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में आयोजित प्रोजेक्ट माॅनिटरिंग ग्रुप की बैठक में नये मेडिकल काॅलेजों की स्थापना, रायबरेली एवं गोरखपुर में एम्स की स्थापना, लखनऊ में श्री अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय की स्थापना, आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना, आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड व वेलनेस सेन्टर की प्रगति, उ0प्र0 इंस्टीट्यूट ऑफ फारेंसिक साइंस विश्वविद्यालय की स्थापना, आजमगढ़, अलीगढ़ एवं सहारनपुर में विश्वविद्यालय की स्थापना तथा स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय की स्थापना की अद्यावधिक प्रगति की समीक्षा की गयी। अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि अंर्तविभागीय प्रकरणों का समय से निस्तारण किया जाये। उन्होंने कहा कि पिछले सप्ताह वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को जिलों में भेजा गया था तथा उनके द्वारा उपयोगी सुझाव दिये गये हैं, जिनका तत्परता से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने कहा कि मेडिकल काॅलेजों एवं चिकित्सालयों में बड़ी संख्या में मेडिकल उपकरण एवं आक्सीजन प्लान्ट्स की स्थापना की जा रही है, जिनके संचालन एवं रख-रखाव के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित कराये जायें ताकि वह निरन्तर क्रियाशील रहे। उन्होंने कहा कि मैन्युफैक्चरर्स जिनके द्वारा मेडिकल उपकरण स्थापित कराये जा रहे हैं, उनसे वार्ता कर लोकल स्टाफ की ट्रेनिंग करा दी जाये ताकि यदि उपकरणों के संचालन में छोटी खराबियां आती हैं, तो तुरन्त ठीक की जा सके और मरीजों को उनका पूरा लाभ अनवरत रूप से मिलता रहे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मेडिकल काॅलेजों एवं चिकित्सालयों में बड़ी संख्या में आक्सीजन प्लान्ट्स भी लगाये जा रहे हैं, उनके अनुरक्षण की भी उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने सुझाव दिया कि प्रत्येक आक्सीजन प्लान्ट के लिए एक टेक्निकल नोडल अधिकारी तैनात किया जाये जोकि प्लान्ट के संचालन एवं उसके रख-रखाव के लिए उत्तरदायी हो। मुख्य सचिव ने कहा कि मेडिकल काॅलेजों एवं चिकित्सालयों में पीडियाट्रिक वार्ड बनाये जा रहे हैं, जिनके लिए जरूरी उपकरण एवं मैनपाॅवर की व्यवस्था अभी से ही सुनिश्चित कर ली जाये। इससे पूर्व चिकित्सा शिक्षा, आयुष, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, गृह, उच्च शिक्षा एवं खेल विभाग की सम्बन्धित परियोजनाओं की परियोजनावार विस्तार से समीक्षा करते हुए मुख्य सचिव ने प्रगति बढ़ाने के लिए कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड योजना की समीक्षा में मुख्य सचिव ने कहा कि 27 मई, 2021 को ग्राम पंचायतों की पहली बैठक हो रही है, जिसमें गोल्डन कार्ड के बारे में भी बताया जाये। आयुष विश्वविद्यालय की स्थापना के सम्बन्ध में बताया गया कि भूमि उपलब्ध हो गयी है, कंसलटेन्ट तैनात हो गया है और डी.पी.आर तैयार कराया जा रहा है। स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय के लिए मेरठ में भूमि उपलब्ध हो गयी है। आजमगढ़, अलीगढ़ एवं सहारनपुर में विश्वविद्यालय की स्थापना सम्बन्धी कार्यवाही प्रगति पर है। उ0प्र0 इंस्टीट्यूट आफ फाॅरेन्सिक साइन्स विश्वविद्यालय की स्थापना की कार्यवाही भी प्रगति पर है। नये मेडिकल काॅलेजों एवं रायबरेली व गोरखपुर में एम्स की स्थापना के कार्य भी तेजी से चल रहे हैं। श्री अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय का निर्माण भी तेजी से चल रहा है, जोकि माह अक्टूबर, 2022 तक पूरा हो जायेगा। बैठक में वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सभी सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारीगण आदि उपस्थित थे। ---------

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

हत्या का पुलिस ने कुछ ही घंटों मे किया खुलासा