वृक्षारोपण के लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करायें अधिकारी - राजेन्द्र कुमार तिवारी मुख्य सचिव

दिनांक: 31 मई, 2021 लखनऊ। वर्तमान वित्तीय वर्ष में पौधारोपण हेतु निर्धारित लक्ष्य 30 करोड़ के दृष्टिगत अपेक्षित कार्यवाही पर विचार-विमर्श तथा अंर्तविभागीय समन्वय के लिए मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में सम्बन्धित सभी विभागों के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक आयोजित की गयी। अपने सम्बोधन में मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि वृक्षारोपण हेतु निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने हेतु सभी जरूरी इंतजाम समय से पूरे कर लिये जायें। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण हेतु भूमि का चयन, अग्रिम मृदा कार्य, अच्छी गुणवत्ता के पौधों की पर्याप्त उपलब्धता आदि अभी से ही सुनिश्चित कर लिया जाये। उन्होंने कहा कि जनपदों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित जिला वृक्षारोपण समिति की बैठकें तत्काल आहूत की जायें, जिसमें वृक्षारोपण हेतु कार्ययोजना को अन्तिम रूप दिया जाये। उन्होंने कहा कि जनपदों में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित जिला वृक्षारोपण समिति की साप्ताहिक बैठकें हों तथा सभी मण्डलायुक्त पाक्षिक बैठकें कर वृक्षारोपण की तैयारियों एवं प्रगति की नियमित समीक्षा अवश्य करें। उन्होंने कहा कि अगले सोमवार को वह स्वयं सभी मण्डलायुक्तों एवं जिलाधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर वृक्षारोपण के लिए की गयी तैयारियों की प्रगति की समीक्षा करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी गोवंश शेल्टर्स में भी वृक्षारोपण कराया जाये तथा जिलों की कार्ययोजना में इसे सम्मिलित किया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि वृक्षारोपण के सम्बन्ध में विस्तृत दिशा-निर्देश तत्काल सभी मण्डलायुक्तों, जिलाधिकारियों एवं सम्बन्धित अधिकारियों को भेज दिये जायें। उन्होंने कहा कि विगत के वर्षों में वृक्षारोपण कार्यक्रम में यदि कहीं पर किसी प्रकार की कोई समस्या आयी हो तो उक्त प्रकार की समस्याओं का अभी से ही समय रहते समाधान कर लिया जाये ताकि इस वर्ष वृक्षारोपण निर्विघ्न एवं अच्छी तरह से सुनिश्चित हो सके। उन्होंने वृक्षारोपण स्थलों की जियो टैगिंग, वृक्षारोपण की फोटोग्राफी तथा जनपदों में अंर्तविभागीय समन्वय के लिए जिलाधिकारी कार्यालय एवं डी.एफ.ओ. कार्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित करने के भी निर्देश दिये। उन्होंने वृक्षारोपण हेतु पौधों की डिमाण्ड 15 जून, 2021 तक डी.एफ.ओ. को उपलब्ध कराने को कहा। इससे पूर्व बैठक में प्रजेन्टेशन के माध्यम से बताया गया कि इस वित्तीय वर्ष में 30 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य निर्धारित है, जिसे विभिन्न विभागों को विभागवार लक्ष्य आवंटित कर दिये गये हैं। मुख्य रूप से वन विभाग 10.80 करोड़, ग्राम्य विकास 10.56 करोड़, कृषि विभाग 2.01 करोड़, उद्यान विभाग 1.33 करोड़, राजस्व एवं पर्यावरण प्रत्येक 1.20 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य दिया गया है। जुलाई के प्रथम सप्ताह में वृहद वृक्षारोपण हेतु तैयारी की जा रही है। बैठक में यह भी बताया गया कि वन विभाग की 1755 पौधशालाओं में 42 करोड़ पौधे उपलब्ध हैं। बैठक में यह भी बताया गया कि पिछले वर्ष 25 करोड़ लक्ष्य के सापेक्ष 28 करोड़ वृक्षारोपण किया गया। बैठक में वीडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सभी सम्बन्धित विभागों वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, विभिन्न विभागीय अधिकारीगण आदि उपस्थित थे। ---------

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या