किसानों के सच्चे मसीहा थे चौधरी चरण सिंह : तिलक यादव

समाजवादी पार्टी ने पूर्व प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि मनायी
ललितपुर। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. की अध्यक्षता में स्टेशन रोड स्थित कार्यालय पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री किसानों के मसीहा स्व.चौधरी चरण सिंह की पुण्यतिथि सादगी पूर्वक मनायी गयी। इस दौरान वक्ताओं ने अपने विचारों को रखते हुये कहा कि किसानों की आवाज को सड़क से संसद तक उठाने और किसानों के हर सुख-दुख में संघर्षरत रहने वाले चौधरी चरण सिंह ने भारत के प्रधानमंत्री पद का भी निर्वाह्न किया। सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि चरण सिंह का जन्म एक जाट परिवार मे हुआ था। स्वाधीनता के समय उन्होंने राजनीति में प्रवेश किया। इस दौरान उन्होंने बरेली कि जेल से दो डायरी रूपी किताब भी लिखी। स्वतन्त्रता के पश्चात् वह राम मनोहर लोहिया के ग्रामीण सुधार आन्दोलन में लग गए। बाबूगढ़ छावनी के निकट नूरपुर गांव, तहसील हापुड़, जनपद गाजियाबाद, कमिश्नरी मेरठ में काली मिट्टी के अनगढ़ और फूस के छप्पर वाली मढ़ैया में 23 दिसम्बर,1902 को आपका जन्म हुआ। चौधरी चरण सिंह के पिता चौधरी मीर सिंह ने अपने नैतिक मूल्यों को विरासत में चरण सिंह को सौंपा था। चरण सिंह के जन्म के 6 वर्ष बाद चौधरी मीर सिंह सपरिवार नूरपुर से जानी खुर्द के पास भूपगढी आकर बस गये थे। यहीं के परिवेश में चौधरी चरण सिंह के नन्हें ह्दय में गांव-गरीब-किसान के शोषण के खिलाफ संघर्ष का बीजारोपण हुआ। इस दौरान जीतू सरदार, खुशालचंद्र साहू, अमर सिंह भैंरा, अशोक अहिवार, राजेश झोजिया, सुरेन्द्र पाल सिंह, विजय सिंह शिक्षक, राजेन्द्र लखनपुरा, प्रदीप जैन चिगलौआ, डा.महेश झां, राजेन्द्र शिक्षक, लाखन स्वामी, राजीव दौलता, जयसिंह तिंदरा, बद्री अहिरवार, रमन सिंह, बलराम यादव, बन्दू घोष आदि मौजूद रहे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या