निडर होकर लगवाये वैक्सीन का टीका : बाबूलाल दिवाकर

जनपद में टीकाकरण पूरा कराने वाले सबसे बुजुर्ग बने दिवाकर ललितपुर। टीकाकरण कतई हानिकारक नहीं है। कोविड-19 से बचाव का यही एक मुफीद साधन है। यह बात टीकाकरण पूरा कराने वाले जनपद के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति बने दादा बाबूलाल दिवाकर ने कहे। उन्होंने टीके की दूसरी डोज जिला संयुक्त चिकित्सालय में स्वयं जाकर लगवाई। 97 वर्षीय बुजुर्ग बाबूलाल दिवाकर अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ.एके दिवाकर, पत्रकार रवीन्द्र दिवाकर और समाजशास्त्री अक्षय दिवाकर के पिता हैं। वे स्वयं चलकर अस्पताल की पहली मंजिल पर पहुँचे और अपना पंजीयन कराकर वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई। उन्होंने वैक्सीन कोविडशील्ड लगने के बाद कहा कि इस वैक्सीन से उन्हें कोई परेशानी नहीं हुयी। कहा कि हर बुजुर्ग को चिकित्सक से सलाह लेकर वैक्सीनेशन अवश्य कराना चाहिये। महामारी के इस दौर में यह भारतीय वैक्सीन ही लोगों को बचायेगी। इस दौरान चिकित्साकर्मियों ने इतने बुजुर्ग और उत्साही जानकार से आशीर्वाद भी लिया। वैक्सीनेशन का कार्य देख रहे प्रभारी रवि झाँ ने एहतियात का पूरा खयाल रखा।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या

हिन्दी में प्रयोग हो रहे किन - कौन किस भाषा के शब्द

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि